अफ़ग़ानिस्तानः करज़ई नाराज़, अमरीका चिंतित

हामिद करज़ई
Image caption अफ़गान राष्ट्रपति ने आम लोगों पर हमले को अस्वीकार्य कहा है

शुक्रवार को नैटो गठबंधन सेना के एक हमले में अफ़ग़ानिस्तान में चरमपंथियों समेत 90 लोग मारे गए थे. इस हमले को लेकर अब अमरीका से लेकर काबुल तक प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं.

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने कहा है कि उनकी ज़मीन पर आम नागरिकों पर किसी भी तरह से होने वाले हमले कतई स्वीकार्य नहीं हैं.

शुक्रवार के हमले को लेकर अफ़ग़ान राष्ट्रपति के तेवर तल्ख हैं और वो अपनी नाराज़गी भी व्यक्त कर रहे हैं.

दूसरी ओर अमरीका ने कहा है कि वो हमले में आम लोगों के मारे जाने की ख़बर से दुखी है.

व्हाइट हाउस ने कहा है कि उन्हें इस बात से काफी चिंता हुई है कि नैटो के हमले में जो लोग मारे गए हैं, उनमें आम नागरिक भी शामिल हैं.

उधर नैटो ने इस हमले में आम लोगों के मारे जाने की ख़बर पर खेद व्यक्त करते हुए कहा है कि इस हमले की पूरे तौर पर जाँच कराई जाएगी.

नैटो का हमला

शुक्रवार को उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान के कुंदूज़ प्रांत में तेल टैंकरों को निशाना बनाकर किए गए नैटो के हवाई हमले में कम से कम 90 लोगों की मौत हो गई थी.

Image caption धमाके में कई लोग घायल भी हुए हैं

नैटो की अगुआई वाली सेना के एक प्रवक्ता ने हवाई हमले की पुष्टि की थी. प्रवक्ता ने बताया कि गुरुवार रात दो टैंकरों को चुरा लिया गया था.

नैटो सेना को पता चला कि कुंदूज़ नदी के किनारे दोनों टैंकर हैं. स्थानीय सेना कमांडर ने हवाई हमले का आदेश दिया और इस हमले में दोनों टैंकरों को नष्ट कर दिया गया.

बताया गया कि इस हमले में कई तालेबान समर्थक चरमपंथी नैटो का निशाना बने हैं पर बाद में आम लोगों के मारे जाने की भी ख़बरें आने लगीं.

स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि हमले में क़रीब 30 आम नागरिकों की भी मौत हो गई है. इस बात के सामने आने के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सरगर्मियां तेज़ हो गईं.

राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने इस हमले की निंदा करते हुए इसे अस्वीकार्य बताया है.

दरअसल, इसके पीछे की वजह यह भी है कि पिछले कुछ समय में अफ़ग़ानिस्तान में नैटो के हमलों में आम नागरिकों के मारे जाने का मुद्दा गरमाया है और लोगों में इसके प्रति नाराज़गी है. शुक्रवार के हमले के बाद इस नाराज़गी में और इज़ाफ़ा हुआ है.

इस पूरे मामले के दौरान ही शुक्रवार को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री गार्डन ब्राउन ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में स्थिरता और शांति का सीधा संबंध पश्चिम में भी शांति से है.

उनका बयान ऐसे समय में आया है जब यह बात पूरे ब्रिटेन में एक मुद्दा बनती जा रही है कि अफ़ग़ानिस्तान में ब्रिटेन को काफी नुकसान उठाना पड़ा है.

संबंधित समाचार