'हमले के पीछे श्रीलंकाई तत्व'

हमले में क्षतिग्रस्त वाहन
Image caption पाकिस्तान ने पहले इस हमले के पीछे भारत का हाथ होने की आशंका जताई थी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री युसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा है, कि लाहौर में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर हुए हमले के पीछे श्रीलंकाई तत्वों हाथ था.

युसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा, कि इस बात की जानकारी उन्हें श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने अभी हाल की मुलाक़ात के दौरान दी थी.

तीन मार्च 2009 को लाहौर के स्टेडियम जाते वक़्त श्रीलंका की टीम पर एक चरमपंथी गुट द्वारा घात लगाकर जानलेवा हमला किया गया था, जिसमें टीम के छह खिलाड़ी और बीस अन्य घायल हुए थे.

युसुफ़ रज़ा गिलानी ने यह भी कहा कि अगर श्रीलंका की सरकार चाहे तो वह पाकिस्तान के गृहमंत्रालय का एक दल जांच के लिए श्रीलंका भेजने को तैयार हैं.

गिलानी ने कहा, "लीबिया में श्रीलंका के राष्ट्रपति ने मुझे बताया कि श्रीलंका सरकार को इस बात के सबूत मिले हैं, कि लाहौर में श्रीलंका की टीम पर हमले के लिए धन श्रीलंका के ही कुछ तत्वों द्बारा मुहैय्या कराया गया था."

इसके पहले इस हमले को लेकर कई तरह की अटकलें लगाईं जा रहीं थी.

पाकिस्तान की सरकार के कुछ अधिकारियों ने तो यहाँ तक कहा था कि इस हमले के पीछे भारत के कुछ तत्व शामिल थे.

मुंबई में 26 नवम्बर 2008 को हुए हमलों के लिए भारत ने पाकिस्तान के तत्वों को ज़िम्मेदार बताया था.

इस हमले के दौरान पकड़े गए पाकिस्तानी चरमपंथी अजमल आमिर कसाब के बयानों और जांच के आधार पर जुटाए गए तमाम सबूत भी पाकिस्तान को सौंपे हैं.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है