'हमारी नीयत पर शक न करें'

  • 11 सितंबर 2009
रहमान मलिक
Image caption मलिक का दावा है कि चार महीने में फ़ैसला हो जाएगा

पाकिस्तान ने भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वह मुंबई हमलों के दोषियों को सज़ा दिलवाने के मामले में गंभीर है और अभियुक्तों के ख़िलाफ़ अदालत में मुकदमा चला रहा है.

पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक ने इस्लामाबाद में पत्रकारों से बातचीत में कहा, “आप कहते हैं कि मुक़दमा नहीं शुरु हुआ, मैं दावे से कहता हूँ कि मुक़दमा शुरु हुआ है.”

उन्होंने आगे कहा, “ईद के बाद इस मुक़दमे की प्रतिदिन सुनवाई होगी और हम समझते हैं कि चार महीनों के भीतर यह मुक़दमा पूरा हो जाएगा. और देखें हमारी नीयत पर शक न करें.”

भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने अपनी अमरीका यात्रा के दौरान कहा था कि पाकिस्तान मुंबई हमले के दोषियों को सज़ा दिलवाने के मामले में गंभीर नहीं है.

अमरीका के चार दिवसीय दौरे पर गए गृह मंत्री चिदंबरम ने अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन से मुलाक़ात की है.

पाकिस्तान गंभीर नहीं है- चिदंबरम

मुलाक़ात के बाद संवाददाता सम्मेलन में चिदंबरम ने कहा कि उन्होंने हिलेरी क्लिंटन के साथ बातचीत में पाकिस्तान का मुद्दा उठाया और उन्हें बताया कि पाकिस्तान मुंबई हमले में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई नहीं कर रहा है.

चिदंबरम ने ख़ास तौर पर लश्करे तैबा के संस्थापक हाफ़िज़ मोहम्मद सईद का ज़िक्र किया और कहा कि उनके ख़िलाफ़ पाकिस्तान सरकार ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है जबकि भारत ने सबूतों की छह फ़ाइलें पाकिस्तान को सौंपी हैं.

पाकिस्तान के गृह मंत्री ने तालेबान के प्रवक्ता मुस्लिम ख़ान की गिरफ़्तारी के बारे में पत्रकारों को बताने के लिए यह संवाददाता सम्मेलन बुलाया था जिसमें उन्होंने भारतीय गृह मंत्री के बयानों के बारे में पूछें जाने पर अपनी प्रतिक्रिया दी.

संबंधित समाचार