'अफ़ग़ानिस्तान में इराक़ जैसे हालात'

दो वरिष्ठ सैन्य कमांडरों ने अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा स्थिति को लेकर अपनी बेबाक राय दी है.

अमरीकी सेंट्रल कमांड के प्रमुख जनरल डेविड पेट्रियस ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में हालात मुश्किल है और सुरक्षा स्थिति लगातार बिगड़ी है. वहीं ब्रितानी सेना प्रमुख जनरल सर डेविड रिचर्डस ने कहा है कि तालेबान एक क्रूर विरोधी गुट है.

इसे इत्तेफ़ाक कहिए या सोच समझकर उठाया गया क़दम लेकिन दो पश्चिमों देशों के वरिष्ठ जनरलों ने अफ़ग़ानिस्तान की स्थिति पर लंदन में लगभग एक जैसा बयान दिया है.

अमरीकी जनरल डेविड पेट्रियस ने स्वीकार किया कि अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा स्थिति बिगड़ी है. पिछले साल के मुकाबले हिंसक गतिविधियों में 60 फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है.

उन्होंने कहा कि तालेबान और दूसरे चरमपंथी संगठनों ने अपना दायरा बढ़ाया है. जनरल पेट्रियस के शब्दों में कहें तो अफ़ग़ानिस्तान की स्थिति वैसी ही है जैसे कुछ साल पहले इराक़ की थी.

मुश्किल हालात

जनरल पेट्रियस ने इस बात पर ज़ोर दिया कि अफ़ग़ानिस्तान अभियान में प्रतिबद्धता की ज़रूरत है. हालांकि उन्होंने कहा कि इस अभियान में अब भी जीत हासिल की जा सकती है.

वहीं ब्रितानी सेना के नए प्रमुख जनरल सर डेविड रिचर्ड्स ने भी माना कि हालात मुश्किल है. जनरल रिचर्ड्स ने कहा कि उन्हें लगता है कि पश्चिमी देश अफ़ग़ानिस्तान में सही रणनीति तय करने के क़रीब है और वे काफ़ी आशावान हैं.

हालांकि उन्होंने आगाह भी किया कि अगर अफ़ग़ानिस्तान अभियान विफल होता है तो अमरीका और नैटो के लिए इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं, उनका कहना था कि इससे दुनिया भर में चरमपंथी ताकतों को बल मिलेगा.

संबंधित समाचार