हाफ़िज सईद के ख़िलाफ़ मुक़दमा

हाफ़िज सईद
Image caption हाफ़िज सईद लश्करे तैबा के संस्थापक माने जाते हैं.

पाकिस्तान पुलिस ने आतंकवाद निरोधक क़ानून के तहत हाफ़िज मोहम्मद सईद के ख़िलाफ़ मुक़दमे दर्ज किए हैं.

लाहौर स्थित बीबीसी संवाददाता अली सलमान ने बताया कि सईद के ख़िलाफ़ फ़ैसलाबाद के दो पुलिस थानों में मामला दर्ज किया गया है. उन पर एक धार्मिक सभा में भारत के ख़िलाफ़ टिप्पणी करने और जेहाद के लिए दान की माँग करने का आरोप लगा है.

हालांकि पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने बीबीसी से इस मामले पर कहा, "मैं इससे इनकार भी नहीं करता और हाँ भी नहीं करता.ये अख़बारी ख़बर है. पूरी रिपोर्ट इकट्ठा करने के बाद ही कुछ कह पाउंगा."

भारत आरोप लगाता रहा है कि मुंबई हमलों में हाफिज सईद का हाथ है और उनके ख़िलाफ़ पाकिस्तान कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर रहा है.

हाफ़िज सईद ग़ैर सरकारी संगठन जमात उद दावा के संस्थापक हैं. हालांकि भारत का कहना है कि चरमपंथी संगठन लश्करे तैबा का ही नाम बदल कर जमात उद दावा कर दिया गया है.

रहमान मलिक से जब ये पूछा गया कि भारतीय गृह मंत्री के अमरीका दौरे के बाद क्या हाफिज सईद के ख़िलाफ़ कार्रवाई के लिए दबाव बढ़ा है, तो उनका कहना था, "हम संप्रभु देश हैं. जहां तक मुंबई हमलों का ताल्लुक है, हम सहयोग कर रहे हैं. पारदर्शी तरीके से काम कर रहे हैं. हमने एक टीम बनाई. लखवी को गिरफ़्तार किया. जिसने हमलों के लिए पैसे दिए उसे गिरफ्तार किया. प्लानिंग करने वाले को गिरफ़्तार किया. सात बंदों के ख़िलाफ चलान पेश किया."

उन्होंने कहा, "मैं चिदंबरम साहब से अनुरोध करुंगा कि इंतज़ार करें और देखें कि परिणाम क्या होता है. 19 सितंबर को हम भारत के ताज़ा सवालों का जवाब दे सकते हैं."

रहमान मलिक का कहना था, "अजमल कसाब ने कहा है कि वो हाफिज से मिले. मैंने इसे रिजेक्ट नहीं किया. हम जाँच कर रहे हैं. पंद्रह दिनों में जवाब कैसे दे दें. हमने तो कसाब का बयान फरवरी में मांगा था, वो हमें चार महीने बाद मिला."

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी अमरीका में हैं जहां भारतीय विदेश मंत्री के साथ उनकी बातचीत होनी है.

संबंधित समाचार