कांग्रेस-एनसीपी में समझौता

  • 23 सितंबर 2009
Image caption शरद पवार एनसीपी के बड़े नेता हैं

विधानसभों चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से कुछ दिन पहले आख़िरकर महाराष्ट्र में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बीच सीटों को लेकर समझौता हो गया है.

कांग्रेस 174 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि एनसीपी 114 सीटों पर. महाराष्ट्र कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष मानिकराव ठाकरे ने नई दिल्ली में ये जानकारी दी.

वर्ष 2004 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 157 सीटों पर चुनाव लड़ा था जबकि एनसीपी ने 127 पर. बाकी चार सीटें अन्य साझीदारों के लिए छोड़ दी गई थी.

एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा दिल्ली में बताया, "दोनों दल सांप्रदायिक ताकतों के ख़िलाफ़ मिलकर लड़ेंगे और हम मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाएँगे."

महाराष्ट्र में 13 अक्तूबर को चुनाव होना है.

सीटों का बटवारा

288 सदस्यों वाली महाराष्ट्र एसेंबली में मुख्य मुकाबला सत्ताधारी कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन और भारतीय जनता पार्टी-शिव सेना गठबंधन के बीच है.

शिव सेना 169 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा करेगी जबकि भाजपा 119 पर.

एजेंसियों के मुताबिक ये ख़बरें भी आ रही हैं कि राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के बेटे को अमरावती से टिकिट दी जा सकती है जिसे लेकर विवाद शुरु हो गया है.

कांग्रेस-एनसीपी समझौते के बाद अब दोनों पार्टियाँ अपने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर सकेंगी.

दोनों पार्टियों के बीच सीटों को बटवारे को लेकर मतभेद चल रहे थे लेकिन मंगलवार को चली बैठकों के दौर के बाद अंतिम सहमति बना ली गई.

महाराष्ट्र में तीसरा मोर्चा और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना भी चुनावी मैदान में है. कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन 1999 से ही सत्ता में है.