बांग्लादेश में लश्कर चरमपंथी गिरफ्तार

  • 2 अक्तूबर 2009
चरमपंथी
Image caption बांग्लादेश पुलिस ने लश्कर चरमपंथी को गिरफ़्तार किया

बंगलादेश में पुलिस का कहना है कि उसने पाकिस्तान स्थित प्रतिबंधित संगठन लश्करे तैबा के एक वरिष्ठ सदस्य को भारत में हमलों की साज़िश रचने के संदेह में गिरफ़्तार किया है.

मोहम्मद इमादुल्ला उर्फ़ महबूब नामक इस शख्स के बारे में पुलिस को पहले से सूचना थी और उसी के आधार पर उसे राजधानी से ढाका से गिरफ़्तार किया गया.

पुलिस के मुताबिक़ इमादुल्ला बांग्लादेश में भारत स्थित आसिफ़ रज़ा कमांडर फोर्स के मुखिया के रूप में काम कर रहा था. आसिफ़ रज़ा कमांडर फोर्स लश्करे तैबा का ही संगठन है.

भारत में पिछले साल मुंबई में हुए हमलों के लिए भी लश्करे तैबा को ज़िम्मेदार माना जाता है जिसमें 160 से भी ज़्यादा लोगों की मौत हुई थी.

इमादुल्ला पिछले तीन साल से ढाका में ही रह रहा था और भारत में सीमा पार से विस्फोटक सामग्री पहुंचाने का काम करता था.

इमादुल्ला का कहना है कि उसने बांग्लादेश का पासपोर्ट बनवा लिया था और 2005 में पाकिस्तान जाने के लिए उसने उस पासपोर्ट का इस्तेमाल भी किया था.

इमादुल्ला ने कहा, "मैं बलूचिस्तान में 34 दिन रहा. मैंने कई तरह के हथियार- चीनी पिस्तौल, एके सैंतालीस, एसएलआर मशीन गन, रॉकेट लाँचर चलाने का प्रशिक्षण लिया."

जुलाई में बांग्लादेश पुलिस ने संदिग्ध चरमपंथी मौलाना मासूम अली और मौलाना ओबैदुल्ला को गिरफ़्तार किया था और उनसे पूछताछ के दौरान इमादुल्ला की जानकारी मिली.

ढाका के डिटेक्टिव ब्रांच के उपायुक्त मुनीरुल इस्लाम ने ढाका में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया, "भारतीय चरमपंथी बांग्लादेश का इस्तेमाल छिपने के लिए या भारत, बर्मा और अन्य पड़ोसी देशों में घुसने के लिए करते हैं, जहां वे जाकर अपराध करते हैं."

उन्होंने कहा, "बांग्लादेश में ये चरमपंथी हरकत उल जिहाद के नाम से काम करते हैं."

पिछले कुछ हफ़्तों में बांग्लादेश में इसे चरमपंथियों की धरपकड़ की दूसरी बडी़ क़ामयाबी माना जा रहा है.

संबंधित समाचार