मुंबई मामलों की सुनवाई फिर टली

Image caption पिछले साल मुंबई में हमला किया गया था

पाकिस्तान में मुंबई हमलों से जुड़े अभियुक्तों की सुनवाई का मामला 10 अक्तूबर तक टाल दिया गया है.

पिछले हफ़्ते भी सुनवाई स्थिगत कर दी गई थी क्योंकि जज ही मौजूद नहीं थे.

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कुछ दिन पहले कहा था, "मुंबई हमलों के सिलसिले में सात लोगों को पकड़ा गया है और 20 लोग लापता हैं. इस मामले की सुनवाई तीन अक्तूबर को शुरु हो जाएगी."

27 सिंतबर को ही भारतीय और पाकिस्तानी विदेश मंत्रियों की अमरीका में मुलाकात हुई थी और मुंबई का मुद्दा भी उठा था.

सुनवाई में देरी

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने हाफ़िज़ मोहम्मद सईद के सिलसिले में बयान भी दिया था और कहा था कि हाफ़िज़ सईद के ख़िलाफ़ भारत ने जो सबूत दिए हैं वो अदालत में नहीं ठहर पाएंगे.

भारत हाफ़िज सईद को पिछले साल 26 नवंबर को मुंबई हमलों के लिए ज़िम्मेदार मानता है. भारत का कहना है कि उसने पाकिस्तान को सबूतों से संबंधित कई दस्तावेज़ सौपे हैं.

मुंबई हमले के मामले में सरकारी वकील उज्जवल नकम ने हाल में सवाल उठाया है कि अगर मुंबई में ओपन कोर्ट सुनवाई हो सकती है तो पाकिस्तान में क्यों नहीं.

निकम का कहना था कि अगर ओपन ट्रायल से पारदर्शिता आती है.

संबंधित समाचार