हमलावरों ने सुरक्षाकर्मियों को बंधक बनाया

  • 10 अक्तूबर 2009
रावलपिंडी
Image caption हमलावरों ने सेना मुख्यालय को निशाना बनाया

पाकिस्तान में रावलपिंडी स्थित सैन्य मुख्यालय की एक इमारत पर दो से ज़्यादा संदिग्ध चरमपंथियों ने क़ब्ज़ा करके कुछ सुरक्षाकर्मियों को बंधक बना लिया है.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अतहर अब्बास ने बीबीसी को जानकारी दी है कि संदिग्ध चरमपंथियों ने सेना मुख्यालय की जिस इमारत पर क़ब्ज़ा किया है, उसमें कई सुरक्षाकर्मी मौजूद हैं.

उन्होंने बताया है कि सेना सुरक्षाकर्मियों को सुरक्षित निकालने के लिए कार्रवाई कर रही है. इससे पहले इस मुख्यालय को निशाना बनाकर किए गए हमले में 11 लोग मारे गए थे.

पाकिस्तानी सेना के मुताबिक चार हमलावर सुरक्षाकर्मियों के साथ मुठभेड़ में मारे गए थे. गोलीबारी में छह सुरक्षाकर्मी भी हमलावरों की गोलियों के शिकार हो गए. गोलीबारी में एक राहगीर भी मारा गया.

कार्रवाई

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अतहर अब्बास ने बताया कि पाकिस्तान के तहरीके तालेबान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है. अतहर अब्बास ने कहा कि दक्षिणी वज़ीरिस्तान में सैनिक कार्रवाई के कारण तहरीके तालेबान के लोग ऐसे हमले कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, "सरकार ने दक्षिणी वज़ीरिस्तान के इलाक़े में कार्रवाई का फ़ैसला किया है. इसलिए इस वक़्त तहरीके तालेबान शहरों में हमले कर रहे हैं. जैसा कि पिछले दिनों पेशावर में हुआ था. ऐसी कार्रवाई करके ये सरकार और सेना पर दबाव बढ़ाना चाहते हैं. उन्होंने कहा भी था कि वे बैतुल्लाह महसूद की मौत का बदला लेगें. इसी कारण ऐसे हमले हो रहे हैं."

हमलावर सुबह लगभग 11 बजे एक गाड़ी में सवार होकर आए और उन्होंने सैनिक मुख्यालय जीएचक्यू के गेट नंबर एक से अंदर घुसने की कोशिश की.

वहाँ तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो हमलावरों ने गोलियाँ बरसानी शुरू कर दी. इसके जवाब में सुरक्षाकर्मियों ने भी कार्रवाई की और इसमें सेना के हेलिकॉप्टरों की भी मदद ली गई.

संबंधित समाचार