लाहौर हमले से जुड़े हो सकते हैं तार

पाकिस्तानी सेना का मुख्यालय
Image caption पाकिस्तानी सेना के मुख्यालय पर हुआ हमला कोई 20 घंटे तक चला और 19 लोग मारे गए

पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि रावलपिंडी में सेना मुख्यालय पर हुए हमले के सिलसिले में जिस एकमात्र चरमपंथी को पकड़ा गया है उसका संबंध लाहौर में मार्च में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर किए गए हमले से हो सकता है.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अतहर अब्बास ने बीबीसी को बताया कि इस चरमपंथी का नाम अक़ील है और उसका एक अन्य नाम डॉक्टर उस्मान है.

उन्होंने बताया कि अक़ील का नाम श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर हुए हमले में लिया जाता रहा है और अभी ये पता है कि सेना मुख्यालय पर हुए हमले का नेतृत्व उसी ने किया.

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से लगे शहर रावलपिंडी में कुछ चरमपंथियों ने शनिवार को दिन-दहाड़े हमला कर कई सैनिकों को बंधक बना लिया था.

घटना के कोई 20 घंटे बाद रविवार सुबह कमांडो कार्रवाई के बाद 39 बंधकों को छुड़ा लिया गया.

लेकिन इस पूरे हमले और सैन्य कार्रवाई के दौरान कुल मिलाकर 19 लोग मारे गए.

इनमें 11 सैनिक और आठ हमलावर हैं. कार्रवाई के दौरान मारे गए सेना के लोगों में दो अधिकारी भी शामिल हैं.

पूछताछ

पकड़ा गया एकमात्र हमलावर भागने की कोशिश कर रहा था लेकिन घायल होने के बाद उसे कब्ज़े में ले लिया गया.

अतहर अब्बास ने कहा,"अक़ील का नाम पहले भी कई बार हमारे सामने आया है, ख़ासतौर से श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर हुए हमले के सिलसिले में भी उसका नाम ऊपर आया था."

उन्होंने कहा कि अभी अक़ील से इस बारे में और पूछताछ की जा रही है और उन्हें उम्मीद है कि आगे और भी जानकारियाँ सामने आएँगी कि इन हमलों में और कौन लोग उसके साथ थे.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने कहा कि इस समय इतना स्पष्ट है कि अक़ील सेना मुख्यालय पर हमला करनेवालों का नेता था.

उन्होंने कहा, अभी हमें सिर्फ़ ये मालूम है कि ये इस पूरे गिरोह का सरगना था जो इस हमले में शामिल था और इसकी योजना बनाने में शामिल था.

इस वर्ष तीन मार्च को पाकिस्तान के दौरे पर गई श्रीलंका की क्रिकेट टीम की बस पर लाहौर में कुछ बंदूकधारियों ने हमला किया था जिसमें सात श्रीलंकाई क्रिकेटर घायल हो गए थे.

इस हमले में छह पुलिसकर्मी और एक ड्राईवर की मौत हो गई थी.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है