पाकिस्तान में सात सैनिकों की मौत

ख़ैबर में ट्रकों की कतार
Image caption पाकिस्तान से अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सैनिकों के लिए रसद भेजने के लिए यह मुख्य रास्ता है

पाकिस्तान के दूरस्थ उत्तर पश्चिमी क़बायली इलाक़े में शनिवार को हुए एक बम विस्फोट में कम से कम सात सैनिक मारे गए हैं और 11 अन्य घायल हुए हैं.

सैन्य अधिकारियों के अनुसार दस्ता उस समय विस्फोट का शिकार हुआ जब सड़क के किनारे एक बम फट गया.

अधिकारियों का कहना है कि इस विस्फोट में अमरीकी सेना के लिए राशन ले जा रहे दो ट्रक भी नष्ट हो गए हैं.

विस्फोट पेशावर से 15 किलोमीटर दूर ख़ैबर इलाक़े में हुआ है.

यह विस्फोट ऐसे समय में हुआ है जब पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी ने कहा है कि उन इलाक़ों में सैन्य कार्रवाई तेज़ की जाएगी जहाँ तालेबान मज़बूत माने जाते हैं.

उन्होंने कहा है कि यह कार्रवाई तब तक नहीं रुकेगी जब तक तालेबान ख़त्म नहीं हो जाते.

हमला

जहाँ विस्फोट हुआ वह वही रास्ता है जिससे पाकिस्तान से अफ़ग़ानिस्तान में तालेबान के ख़िलाफ़ संघर्ष कर रही अमरीकी सेना के लिए रसद पहुँचाई जाती है.

समाचार एजेंसी एपी ने ख़ैबर के एक अधिकारी ग़ुलाम फ़ारुक़ ख़ान के हवाले से कहा है कि जब विस्फोट हुआ तो सैनिक राशन की ट्रकों के साथ अफ़ग़ानिस्तान की ओर जा रहे थे.

इसके अलावा एक और संदिग्ध तालेबान हमलावरों ने शनिवार की सुबह छह कमरों वाले लड़कों के एक स्कूल को विस्फोट करके उड़ा दिया.

तालेबान लगातार स्कूलों पर हमले करते रहे हैं क्योंकि वे आधुनिक शिक्षा का विरोध करते हैं.

एपी ने ख़ुफ़िया अधिकारियों के हवाले से ख़बर दी है कि शनिवार को सुबह ही पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने औरकज़ई इलाक़े में बमबारी की है जिसमें आठ चरमपंथी लड़ाके मारे गए हैं और कई अन्य घायल हुए हैं.

यह इलाक़ा तालेबान और अल-क़ायदा का गढ़ माना जाता है.

हालांकि समाचार एजेंसी का कहना है कि यह इलाक़ा अर्ध स्वायत्तशासी इलाक़ा है और वहाँ सरकारी दावों की पुष्टि करना कठिन होता है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है