सार्थक बातचीत के लिए तैयार हैं: क़ुरैशी

शाह महमूद क़ुरैशी
Image caption 'कश्मीर पर बातचीत का नतीजा तब ही निकलेगा जब पाकिस्तान भी शामिल हो'

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा है कि वे 'भारत के साथ सार्थक बातचीत के लिए तैयार हैं, जिससे कोई नतीजा निकले.'

पाकिस्तान के मुलतान शहर में शुक्रवार शाम को संवाददाताओं से बातचीत करते हुए क़ुरैशी ने ये भी कहा कि 'कश्मीर समस्या का कोई सकारात्मक नतीजा तभी निकल सकता है जब पाकिस्तान को बातचीत में शामिल किया जाए.'

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी हाल में अफ़ग़ानिस्तान में राष्ट्रपति हामिद करज़ई के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा से मिले थे.

'नतीजा तब ही जब पाक भी शामिल हो'

समाचार एजेंसियों के अनुसार क़ुरैशी का कहना था, "मैं निकट भविष्य में राष्ट्रमंडल देशों की बैठक से पहले भारत को स्पष्ट संदेश देना चाहता हूँ कि पाकिस्तान सार्थक बातचीत के लिए तैयार है....मेरी दिलचस्पी ऐसी बातचीत में है जिससे कोई नतीजा निकले."

उनका कहना था कि भारत-पाकिस्तान समग्र वार्ता दोबारा शुरु करने से केवल इन दो देशों को ही नहीं बल्कि पूरे क्षेत्र की सुरक्षा सुनिश्चित करने में फ़ायदा होगा.

कश्मीर समस्या के संदर्भ में उनका कहना था कि भारत सरकार और अलगाववादी कश्मीरी नेताओं के बीच किसी भी बातचीत का नतीजा तब ही निकलेगा जब उस बातचीत में पाकिस्तान भी शामिल हो.

महत्वपूर्ण है कि उनका ये बयान हाल में भारत प्रशासित कश्मीर में मीरवाइज उमर फ़ारूक़ के नेतृत्व वाले अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ़्रेस के उदारवादी गुट की एक बैठक के बाद आया है.

उस बैठक में इस मुद्दे पर विचार हुआ था कि क्या संगठन भारत की केंद्र सरकार के साथ बातचीत करे, लेकिन इस बैठक का कोई ठोस नतीजा नहीं निकला था.

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अमरीका यात्रा के संदर्भ में एक सवाल के जवाब में क़ुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान किसी भी ओर से आने वाले किसी भी दबाव में आने वाला नहीं है और सभी को इसका एहसास होना चाहिए.

संबंधित समाचार