'तालेबान के ख़िलाफ़ नए अभियान की ज़रूरत'

ब्राउन
Image caption ब्राउन ने पहली बार अफ़ग़ानिस्तान में रात बिताई

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री गोर्डन ब्राउन अचानक अफ़ग़ानिस्तान पहुँचे हैं, जहां वह राष्ट्रपति हामिद करज़ई समेत अन्य नेताओं से बातचीत कर रहे हैं.

कंधार हवाई अड्डे पर ही उन्होंने हामिद करज़ई से भेंट की और सेना में स्थानीय लोगों की नियुक्ति बढ़ने पर उनकी सराहना की.

उन्होंने अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद ब्रितानी सैनिकों से भी मुलाक़ात की है.

इस दौरे पर उन्होंने कहा है कि तालेबान के ख़िलाफ़ नए सिरे से सैन्य अभियान चलाने की आवश्यकता है.

ब्रितानी प्रधानमंत्री ने अपने सैनिकों को मिले साज़ो सामान और उपकरणों के बारे जानकारी ली. उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीने निर्णायक हो सकते हैं.

ब्राउन ने अफ़ग़ान सरकार से अपील की कि वह तालेबान से लड़ने में आगे आए.

इससे पहले ब्राउन जब भी अफ़ग़ानिस्तान पहुँचे, उसी दिन वापस लौट गए लेकिन इस बार उन्होंने यहीं रात बिताई. ऐसा माना जा रहा है कि क्रिसमस से ठीक पहले वे ब्रितानी सैनिकों का मनोबल बढ़ाए रखना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, "मैं यहां जवानों के साथ रहना चाहता था ताकि वो जो कर रहे हैं, उसके लिए मैं धन्यवाद कह सकूं."

ग़ौरतलब है कि इस वर्ष अब तक अफ़ग़ानिस्तान में सौ ब्रितानी सैनिक मारे जा चुके हैं. करज़ई के साथ साझा प्रेस बयान में भी इसका ज़िक्र आया.

इसमें कहा गया है, "क्रिसमस से पहले मैं उन सभी लोगों के दर्द को महसूस कर सकता हूं जिन्होंने अपने करीबी को खो दिया."

गोर्डन ब्राउन ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान के सीमावर्ती इलाक़े वैश्विक आतंकवाद के केंद्र बने हुए हैं और वहां कार्रवाई का सीधा संबंध ब्रिटेन की सुरक्षा से है.

संबंधित समाचार