कराची में धमाका, 30 की मौत

कराची धमाका

आशूरा के मौक़े पर पाकिस्तान के कराची शहर में धमाका हुआ है. जुलूस के दौरान हुए धमाके में 30 लोग मारे गए हैं. धमाके में 80 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं. मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

बीबीसी संवाददाता हफ़ीज़ चाचड़ के साथ बातचीत में कराची के पुलिस प्रमुख वसीम अहमद ने कहा है कि मारे जाने वालों में दो आत्मघाती हमलावर भी हैं. पुलिस ने एक संदिग्ध हमलावर को गिरफ़्तार भी किया है.

घटनास्थल पर अफ़रा-तफ़री का माहौल था. शिया मुसलमानों में आशूरा का ख़ास महत्व है.

इस धमाके के बाद जुलूस में शामिल लोगों ने पुलिस वाहनों पर पथराव किया है और तोड़फोड़ की है.

पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने शिया मुसलमानों से अपील की है कि वे अगले दो दिनों के प्रस्तावित जुलूस कार्यक्रम को रद्द कर दें.

रविवार को पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के मुज़फ़्फ़राबाद शहर में भी एक शिया जुलूस पर हमला हुआ था, जिसमें आठ लोग मारे गए थे.

धमाका

जहाँ धमाका हुआ है, वो शहर का काफ़ी भीड़-भाड़ वाला इलाक़ा है. धमाके में जिस जुलूस को निशाना बनाया गया, वो शिया समुदाय का मुख्य जुलूस था.

इस बीच पाकिस्तान में क़बायली इलाक़े औरकज़ई में चरमंथियों और स्थानीय लोगों के बीच हुए संघर्ष में कम से कम 13 लोग मारे गए हैं.

दोनों गुटों के बीच गोलीबारी उस समय हुई, जब चरमपंथियों ने औरकज़ई ज़िले में स्थानीय क़बायली मलिक शरीफ़ के घर पर हमला किया.

गोलीबारी में मलिक शरीफ़ के दो लड़के और उनके कबीले से संबंध रखने वाले छह अन्य लोगों की मौत हो गई. पाँच चरमपंथी भी मारे गए.

एक अन्य घटना में दक्षिणी वज़ीरिस्तान में एक सैनिक जाँच चौकी पर चरमपंथी हमले में दो पाकिस्तानी सैनिक और तीन तालेबान चरमपंथी मारे गए.

संबंधित समाचार