अफ़गानिस्तान में चुनाव स्थगित

  • 24 जनवरी 2010
Image caption राष्ट्रपति पद के चुनाव में भारी धांधली के आरोप लगे थे और पश्चिमी देश चुनाव प्रक्रिया में सुधार पर बल दे रहे हैं.

अफ़गानिस्तान के चुनाव आयोग का कहना है कि 22 मई से होनेवाले संसदीय चुनावों को पैसे की कमी के कारण स्थगित कर दिया गया है.

एक अधिकारी ने बताया है कि देश के स्वतंत्र चुनाव आयोग ने ये फ़ैसला इसलिए लिया है क्योंकि इन चुनावों के लिए 12 करोड़ डॉलर की ज़रूरत थी और इतना पैसा उनके पास नहीं है.

अब ये चुनाव 18 सितंबर को होना तय हुआ है.

संवाददाताओं का कहना है कि पश्चिमी देश इस फ़ैसले से खुश होंगे क्योंकि इससे चुनाव सुधार कार्यक्रमों को लागू करने के लिए और समय मिल जाएगा.

संयुक्त राष्ट्र और दानकर्ता देश संसदीय चुनावो को और देर से करवाने के पक्ष में थे जिससे चुनाव सुधारों को लागू किया जा सके.

राष्ट्रपति पद के चुनावों में भारी धांधली के आरोप लगे थे और काफ़ी विवादों के बीच राष्ट्रपति हामिद करज़ई का चुनाव हुआ था.

अफ़गानिस्तान चुनाव आयोग के प्रमुख अली नजाफ़ी ने कहा है कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय समुदाय से लगभग पांच करोड़ डॉलर चाहिए चुनाव करवाने के लिए क्योंकि इस प्रक्रिया में कुल 12 करो़ड़ के खर्चे का अनुमान है.

संबंधित समाचार