भारत की भूमिका से पाकिस्तान चिंतित

  • 3 फरवरी 2010
अफ़ग़ानिस्तान (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान के सैनिकों को प्रशिक्षण का प्रस्ताव रखा है

पाकिस्तान ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में भारत का बढ़ता हुआ प्रभाव उसके लिए बहुत ही चिंता का विषय है.

रक्षा मंत्री चौधरी अहमद मुख़्तियार ने ब्रितानी नौसेना के प्रमुख एडमिरल सर मार्क स्टेनहोप से इस्लामाबाद में मुलाक़ात के बाद बताया, “अफग़ानिस्तान में भारत की कोई भी भूमिका पाकिस्तान के हितों के ख़िलाफ़ है और हमें वहाँ भारत के बढ़ते हुए प्रभाव से चिंता है.”

ऐसी ही चिंता सेना के प्रमुख जनरल अशफाक़ परवेज़ कियानी सेना मुख्यालय में सोमवार को पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान व्यक्त कर चुके हैं.

सेना प्रमुख ने अमरीका और नैटो पर बल दिया कि वह अफ़ग़ानिस्तान को लेकर अपनी नीति स्पष्ट करे और पाकिस्तान के सामरिक हितों और चिंताओं को भी ध्यान में रखें.

प्रशिक्षण का प्रस्ताव

उन्होंने अफ़ग़ानिस्तान में भारत की बढ़ती हुई मौजूदगी पर चिंता व्यक्त की और अफ़ग़ानिस्तान की सेना को प्रशिक्षण देने का भी प्रस्ताव रखा.

जनरल अशफाक़ कियानी ने अफग़ानिस्तान की सेना को प्रशिक्षण देने की बात ऐसे समय में कही जब भारत भी ऐसी इच्छा पहले ही कर चुका है.

उन्होंने पत्रकारों को बताया, “पाकिस्तान अफ़ग़ानिस्तान में गहरी रूचि ज़रुर रखता है लेकिन उस पर अपना नियंत्रण नहीं चाहता.”

जानकारों का कहना है कि जनरल कियानी का पत्रकारों से बातचीत करने का उद्देश्य अफ़ग़ानिस्तान को लेकर अमरीका की नीति और ख़ासकर भारत के बढ़ते हुए प्रभाव पर अपना पक्ष रखना है.

संबंधित समाचार