चिदंबरम पाकिस्तान जाएंगे

पी चिदंबरम
Image caption चिदंबरम ने मुंबई हमलों के बाद गृह मंत्रालय की ज़िम्मेदारी संभाली थी

भारत ने कहा है कि गृहमंत्री पी चिदंबरम फ़रवरी के अंत में पाकिस्तान जाएंगे जहाँ वह रावलपिंडी में एक क्षेत्रीय बैठक में हिस्सा लेंगे.

नवंबर 2008 में मुंबई में हुए चरमपंथी हमलों के बाद किसी भारतीय नेता की यह पहली पाकिस्तान यात्रा होगी क्योंकि उस घटना के बाद दोनों देशों के बीच संबंध बहुत कड़वे हो गए थे.

भारत का आरोप था कि पाकिस्तान स्थित कुछ चरमपंथियों ने मुंबई हमले किए थे जिन्हें सरकारी गुप्तचर एजेंसियों का समर्थन हासिल था लेकिन पाकिस्तान इन आरोपों का खंडन करता है.

पी चिदंबरम की इस यात्रा को दोनों देशों के बीच तनाव कम करने की दिशा में अति महत्वपूर्ण क़दम समझा जा रहा है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने कहा, "रावलपिंडी में 26 और 27 फ़रवरी को दक्षिण एशियाई देशों के आंतरिक सुरक्षा मंत्रियों की बैठक होगी जिसमें चिदंबरम भी हिस्सा लेंगे."

भारतीय विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने पत्रकारों को बताया है कि पी चिदंबरम को इस यात्रा के दौरान पाकिस्तानी मंत्रियों और अधिकारियों के साथ विचार विमर्श करने के अच्छा अवसर मिलेगा.

विदेश मंत्री ने कहा है कि पाकिस्तान ने मुंबई हमलों की जाँच के सिलसिले में जो क़दम उठाने की घोषणा की थी, अगर वो क़दम उठाए होंगे तो भारत को यह जानकर बहुत ख़ुशी होगी.

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो दोनों देशों के बीच सामान्य संबंध फिर से शुरू करने की दिशा में आसानी होगी.

मुंबई हमलों के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच पांच वर्षों से चले आ रहे सामान्य संबंधों में कड़वाहट आ गई थी.

भारत का आरोप है कि पाकिस्तान ने मुंबई हमलों के लिए ज़िम्मेदार लोगों के ख़िलाफ़ ठोस कार्रवाई नहीं की है जबकि पाकिस्तान का कहना रहा है कि भारत ने जो सबूत और जानकारी मुहैया कराई उसके आधार पर समुचित कार्रवाई की गई है.

संबंधित समाचार