क्वेटा में बम धमाका, दस की मौत

  • 16 अप्रैल 2010
फ़ाइल चित्र
Image caption धमाका अस्पाताल के इमरजेंसी वार्ड के दरवाज़े पर हुआ.

पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिमी शहर क्वेटा में एक अस्पताल में बम धमाके में दस लोग मारे गए हैं.

समाचार एजेंसियों के अनुसार इस घटना में कम से कम 35 लोग घायल भी हुए हैं.

अस्पताल में हुए धमाके के बाद फ़ायरिंग की आवाज़े भी सुनी गई हैं. अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि इस हमले में पाकिस्तान के एक स्थानीय टेलीविज़न चैनल के एक कैमरामैन और दो पुलिस अधिकारियों की भी मौत हो गई है.

अपुष्ट ख़बरें आ रही हैं कि ये धमाका एक आत्मघाती हमला था. धमाका अस्पाताल के इमरजेंसी वार्ड के दरवाज़े पर हुआ.

पाकिस्तान के राष्ट्रति आसिफ़ अली ज़रदारी ने इस हमले की निंदा की है और कहा है कि 'सरकार आतंकवाद को हराने के बारे में दृढ़ संकल्प है.'

सांप्रदायिक तनाव

शुक्रवार को धमका क्वेटा के एक बैंक मैनेजर अरशद ज़ैदी के शव को सिविल अस्पताल में लाने के बाद हुआ. धमाके के समय अस्पताल में अरशद ज़ैदी के रिश्तेदार बड़ी संख्या में मौजूद थे. अरशद ज़ैदी को शुक्रवार की सुबह गोली मारी गई थी.

अरशद ज़ैदी पर हुए जानलेवा हमले को टार्गेट क्लिंग यानी ख़ास तौर पर निशाना बनाने की घटना कहा जा रहा है.

पुलिस को शक है कि यह हमला सांप्रदायिक तनाव के कारण हुआ है, जिसमें शिया और सुन्नी शामिल हैं.

इस धमाके में नेशनल एसेंबली के सदस्य आग़ा नासिर भी ज़ख्मी हुए हैं.

धमाके बाद अस्पताल में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. ब्लूचिस्तान पाकिस्तान का सबसे ग़रीब और उपेक्षित राज्य माना जाता है.

पिछले छह दशक में इस प्रांत में सेना ने ताक़त के ज़ोर पर कई बार बलोच राष्ट्रवादी विद्रोह को कुचला है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार