सानिया पहुँचीं ससुराल

सानिया और शोएब ने शुक्रवार को इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग जा कर पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त शरत सब्बरवाल से मुलाक़ात की.

उच्चायोग के अधिकारियों ने बीबीसी को बताया कि उस समय शोएब मलिक ने भारत के वीज़ा केलिए आवेदन दिया और उन्हें वीज़ा जारी कर दिया गया है.

सानिया और शोएब शुक्रवार की शाम लाहौर जाएँगे और 25 अप्रैल को सियालकोट में उन्हें रिसेप्शन दिया जाएगा.

इससे पहले सानिया मिर्ज़ा और उनके पति और पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक जब मुंबई से कराची पहुँचे तो जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सिंध प्रांत के खेल मंत्री मोहम्मद अली शाह, मुख्यमंत्री के सलाहकार राशिद रब्बानी, वक़ार मेहदी सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका भव्य स्वागत किया.

सानिया ने पत्रकारों को बताया कि वे पहली बार कराची पहुँची हैं और उन्हें यहाँ पहुँच कर बहुत अच्छा लगा रहा है.

खेल मंत्री ने नव विवहित जोड़े को फूल और सिंधी अजरक यानी चादर तोहफ़े में दी. सानिया और शोएब जब विमान से उतरे तो उस समय हज़ारों लोग दोनों की एक झलक देखने केलिए बेताब थे.

बड़ी संख्या में लोग हवाई अड्डे पर पहुँचे. सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध किए गए थे और पत्रकारों सहित किसी को भी शोएब और सानिया से मिलने नहीं दिया गया.

विशेष सरकारी अतिथि

शोएब और सानिया के प्रशंसकों ने हाथों में बैनर और प्लेकार्ड उठाए हुए थे जिन पर ‘पाकिस्तान की बहू का इस्तक़बाल’, ‘सानिया ज़िंदाबाद’ और ‘शोएब ज़िंदाबाद’ जैसे नारे दर्ज थे.

लोगों ने दोनों के देखने के लिए काफी कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल सकी.

दोनों कुछ घंटे हवाई अड्डे पर रहने के बाद इस्लामाबाद के लिए रवाना हो गए. सानिया के साथ भारत से उनकी माँ भी पाकिस्तान पहुँची हुई हैं.

शोएब ने पत्रकारों को बताया कि वे करीब एक हफ्ते तक पाकिस्तान में रहेंगे जिसके बाद में दुबई जाएँगे.

उधर प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी ने सरकारी अधिकारियों को आदेश दिया है कि सानिया और शोएब को इस्लामाबाद पहुँचने पर विशेष सरकारी अतिथि का दर्जा दिया जाए.

सानिया और शोएब इस्लामाबाद के बाद शोएब के शहर सियालकोट जाएँगे जहाँ 25 अप्रैल को रिसेप्शन होगा.

ग़ौरतलब है कि सानिया और शोएब का निकाह कई विवादों के बाद 12 अप्रैल को हैदराबाद में हुआ था.

संबंधित समाचार