ड्रोन हमलों में 10 लोग मारे गए

  • 9 मई 2010
ड्रोन विमान
Image caption पाकिस्तान के क़बायली इलाकों में ड्रोन हमलों की घटना अधिक है

पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि देश के क़बायली इलाक़े उत्तरी वज़ीरिस्तान में दो संदिग्ध अमरीकी ड्रोन हमलों में 10 लोग मारे गए हैं.

मरने वालों में विदेशी नागिरक भी शामिल हैं. इस हमले में चार अन्य लोग घायल भी हुए हैं.

उत्तीरी वज़ीरिस्तान में एक सरकारी अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि यह घटना रविवार की सुबह आठ बजे उत्तरी वज़ारिस्तान की राजधानी मीरानशाह से क़रीब 30 किलोमीटर दूर पश्चिम में स्थित दत्ताख़ील तहसील के इलाक़े में हुई.

उन्होंने कहा यह घटना उनज़रकस पहाड़ी श्रृंखला में उस समय हुई जब कथित तौर पर एक अमरीकी जासूस विमान ने एक मकान को निशाना बनाया.

उन्होंने कहा कि मृतकों में विदेशी नागिरक भी हैं जिनका संबंध अल-क़ायदा से बताया जाता है. एक अन्य संदिग्ध ड्रोन हमला भी इसी इलाक़े में हुआ है.

मृतकों में किसी अहम व्यक्ति का नाम शामिल होने की ख़बर नहीं है और न ही उनकी पहचान के बारे में कुछ मालूम हो सका है.

सरकारी अधिकारी के मुताबिक़ शव और घायलों को स्थानीय तालिबान ने अज्ञात स्थान पर पहुंचा दिया है.

शव तालेबान ले गए

उन्होंने बताया कि जिस मकान पर हमला हुआ वह गुल दत्ता ख़ील का था जिसे उन्होंने स्थानीय तालेबान को दे रखा था और तालिबान उसे अपने ठिकाने के तौर पर इस्तेमाल कर रहे थे.

सरकारी अधिकारी ने बीबीसी के संवाददाता दिलावर ख़ान वज़ीर को बताया कि हमले में एक घर पूरी तरह से तबाह हो गया है. उन्होंने यह भी बताया कि उसी इलाक़े में अमरीका की ओर से सबसे ज़्यादा ड्रोन हमले हुए हैं.

उन्होंने यह भी बताया कि इन हमलों में अब तक सैकड़ों लोग मारे जा चुके हैं और सैकड़ों घायल हुए हैं.

उन्होंने बताया कि जासूस विमान से दो मिसाइल दाग़े गए और दोनों मिसाइल उस मकान पर लगे और कई घंटों तक वहां से धुआँ उठता रहा.

स्थानीय लोगों के अनुसार रविवार की सुबह उत्तरी वज़ीरिस्तान के विभिन्न इलाक़ों में जासूस विमान उड़ानें भर रहे थे. हमले के समय आसमान में दो जासूस विमान मौजूद थे.

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक़ इस साल उत्तरी और दक्षिणी वज़ीरिस्तान में लगभग 70 ड्रोन हमले हुए हैं जिसमें 200 से अधिक लोग मारे गए हैं जिनमें अधिकतर स्थानीय तालेबान और सामान्य नागरिक शामिल हैं.

संबंधित समाचार