'फ़ेसबुक से एकता को ख़तरा'

ढाका में फ़ेसबुक के ख़िलाफ़ प्रदर्शन
Image caption हाल में फ़ेसबुक के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हुआ

बांग्लादेश में सरकार ने लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग साईट फ़ेसबुक पर प्रतिबंध लगा दिया है.

बांग्लादेश में दूरसंचार व्यवस्था का निरीक्षण करने वाली संस्था के चेयरमैन ने बीबीसी को बताया है कि फ़ेसबुक पर ऐसी सामग्री थी जिससे बांग्लादेश की समृद्धि, अखंडता और प्रशासन को ख़तरा है.

लेकिन उन्होंने ये नहीं बताया कि वो कैसी सामग्री थी जिससे ऐसा ख़तरा पैदा हुआ.

इससे पहले ऐसी ख़बरें आई थीं कि पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है जिसने फ़ेसबुक पर राजनीतिक नेताओं के कार्टून अपलोड किए थे.

इनमें प्रधानमंत्री शेख़ हसीना और विपक्ष की नेता ख़ालिदा ज़िया के कार्टून शामिल थे.

उधर पाकिस्तान में भी फ़ेसबुक पर प्रतिबंध लगाया गया था जो अब उठा लिया गया है.

फ़ेसबुक को इस्तेमाल करने वाले किसी व्यक्ति ने जब पिछले सप्ताह पैगंबर मोहम्मद की तस्वीरें आमंत्रित की थीं, तो अनेक पाकिस्तानियों ने इस पर आपत्ति जताई थी.

इसके बाद लाहौर हाई कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई के बाद फ़ेसबुक और फिर यू ट्यूब पर प्रतिबंध लगा दिया था.

ग़ौरतलब है कि हाल में कुछ नागरिक अधिकारों की संस्थाओं और पत्रकारों ने ढाका में फ़ेसबुक पर पैगंबर मोहम्मद से जुड़ी एक प्रतियोगिता के विरोध में प्रदर्शन किया था और नेशनल प्रेस क्लब के सामने प्रदर्शन के दौरान इस पर आपत्ति जताई थी.

संबंधित समाचार