भूस्खलन से बांग्लादेश, बर्मा में 80 मरे

बांग्लादेश में बाढ़

बर्मा और बांग्लादेश में भीषण बारिश के कारण हुए भूस्खलन में कम से कम 80 लोग मारे गए हैं और कई लापता हैं.

बांग्लादेश में घर मिट्टी में धंस गए हैं और मुख्य सड़कें बंद हो गई हैं. अधिकारियों ने बताया है कि सात सैनिक और अनेक लोग अभी लापता हैं.

बारिश के कारण दक्षिण-पूर्वी बांग्लादेश में मिट्टी के बांध टूट गए हैं, घर मिट्टी में धंस गए हैं और मुख्य राजमार्ग बंद हो गए हैं. वहाँ पर मृतकों की संख्या

बांग्लादेश में सबसे ज़्यादा नुक़सान दक्षिण में समुद्री तट पर स्थित कॉक्स बाज़ार आरामगाह में हुआ है. एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी घियासुद्दीन के अनुसार 53 लोग कॉक्स बाज़ार में ही मारे गए हैं. पास ही स्थिति एक अन्य ज़िले में पाँच लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

अधिकारियों का कहना है कि और बारिश होने की संभावना को देखते हुए लोगों को सुरक्षित स्कूलों और सरकारी इमारतों में शरण दी गई है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी ने एक स्थानीय अधिकारी नज़ीमुद्दीन के हवाले से कहा है, "तेकनाफ़ के सबसे अधिक प्रभावित इलाक़े में कम से कम 25 लोग मारे गए हैं और छह लापता हैं." बर्मा से सटे इस इलाक़े में रोहिंग्या समुदाय के हज़ारों शरणार्थी बसे हुए हैं.

बर्मा में बुथिडौंग और मौंगथॉ शहरों में भी निवासियों के अनुसार कम से कम 25 लोग मारे गए हैं.

संबंधित समाचार