अफ़गानिस्तान में हमले, 11 मरे

  • 14 जुलाई 2010
नैटो (फाइल फ़ोटो)
Image caption कंधार में तालेबान ने सरकारी संस्थानों पर हमले तेज़ कर दिए हैं

नैटो का कहना है कि अफ़गानिस्तान में पिछले चौबीस घंटों में अलग अलग हमलों में आठ सैनिकों समेत 11 लोग मारे गए हैं.

नैटो के अनुसार दक्षिणी अफ़गानिस्तान में एक हमले में पांच अमरीकी सैनिकों की मौत हो गई है जो अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा सहायता बल का हिस्सा थे. इसके अलावा एक सैनिक की मौत एक अन्य घटना में हुई है.

इससे पहले देश के कंधार सूबे में एक आत्मघाती बम हमले में तीन अमरीकी सैनिकों सहित आठ लोगों की मौत हो गई थी.

नैटो का कहना है कि तालेबान चरमपंथियों ने यह हमला एक पुलिस चौकी पर किया. मारे गए लोगों में अफ़ग़ानिस्तान के पाँच आम नागिरक भी शामिल हैं.

मंगलवार की देर रात चरमपंथियों ने दक्षिणी कंधार सूबे के एक पुलिस चौकी के मुख्य दरवाजे से कार बम को टकरा दिया. इसके बाद चरमपंथियों ने मशीन गन और ग्रेनेड से हमला किया.

नैटो के मुताबिक पुलिस बल के सहयोग से नैटो ने चरमपंथियों का मुक़ाबला किया और उन्हें चौकी में घुसने नहीं दिया.

इससे पहले मंगलवार की सुबह हेलमंद सूबे में अफ़ग़ानिस्तान का एक सैनिक तीन ब्रितानी सैनिकों को मार कर भाग गया था.

नैटो का कहना है कि इस सैनिक की छानबीन जोर शोर से की जा रही है.

कंधार के पुलिस प्रमुख ने समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस (एपी) को बताया कि मारे गए आम नागरिकों में तीन अनुवादक और दो सुरक्षा गार्ड थे.

तालेबान के प्रवक्ता क़ारी युसूफ़ अहमदी ने एपी को फोन कर इस घटना की जिम्मेदारी ली है. चरमपंथी संगठन के मुताबिक इस घटना में नैटो के 13 सैनिक और अफ़ग़ानिस्तान के आठ सुरक्षाकर्मी मारे गए.

नैटो का कहना है कि हाल के दिनों में तीसरी बार नेटो ने अफ़ग़ानिस्तान के सुरक्षाकर्मियों के सहयोग से चरमपंथियों के हमले को निष्फल कर दिया.

कंधार में अमरीकी सुरक्षा बलों की कार्रवाई के अंदेशे से तालेबान ने सरकारी संस्थानों पर हमलों को तेज़ कर दिया है.

कंधार तालेबानी चरमपंथियों का गढ़ माना जाता है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार