ड्रोन हमले में 12 मारे गए

  • 15 अगस्त 2010
ड्रोन
Image caption बीबीसी उर्दू के एक सर्वे के मुताबिक जनवरी 2009 से हुए ड्रोन हमलों में पाक में 700 से अधिक लोग मारे गए

पाकिस्तान के उत्तरी वज़ीरिस्तान के क़बायली इलाक़े में एक अमरीकी ड्रोन विमान से चलाई गई मिसाइलों से कम से कम 12 लोग मारे गए हैं.

पाकिस्तानी अधिकारियों के अनुसार देश उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में पाकिस्तान-अफ़ग़ानिस्तान सीमा पर स्थित ईसोरी गाँव में एक परिसर को निशाना बनाया गया क्योकि ये शक था कि उस इमारत का इस्तेमाल चरमपंथी कर रहे हैं.

अधिकारियों के अनुसार उत्तरी वज़ीरिस्तान में मीर अली नगर के पास अमरीकी ड्रोन यानी चालक रहित विमान को संदिग्ध इस्लामी चरमपंथियों पर मिसाइल दाग़ते देखा गया.

ग्राफ़िक्स:पाकिस्तान में जनवरी 2009 से जून 2010 तक हुए ड्रोन और चरमपंथी हमले

ये क्षेत्र पिछल कुछ समय से तालिबान और अल क़ायदा का गढ़ बन गया है.

एक पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी के अधिकारी ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया, "हमें ख़बर मिली है कि इस हमले में 12 चरमपंथी मारे गए हैं. मृतकों की संख्या इससे अधिक भी हो सकती है."

कुछ अधिकारियों ने कहा है कि मृतकों में विदेशी नागरिक भी हैं लेकिन उनकी नागरिकता के बारे में पुष्टि नहीं हो पाई है.

जब से पाकिस्तान बाढ़ की चपेट में आया है तब से पाकिस्तान में अमरीकी ड्रोन का ये पहला हमला है.

उधर बीबीसी की उर्दू सेवा ने एक व्यापक जाँच में पाया है कि पाकिस्तान में जनवरी 2008 से जनवरी 2009 के बीच 25 ड्रोन हमले हुए जबकि राष्ट्रपति ओबामा के कार्यकाल शुरु होने के बाद जनवरी 2009 से जून 2010 के बीच 87 ड्रोन हमले हुए हैं.

साथ ही ये भी पाया गया कि जहाँ राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के कार्यकाल के दौरान ड्रोन हमलों में 200 लोग मारे गए थे वहीं राष्ट्रपति ओबामा के अब तक के कार्यकाल के दौरान हुए इन ड्रोन हमलों में 700 लोग मारे गए हैं.

संबंधित समाचार