18 चुनाव कर्मचारियों का अपहरण

Image caption कड़ी सुरक्षा के बीच चुनाव प्रचार जारी

अफ़ग़ानिस्तान में दो उम्मीदवारों, 18 चुनाव कर्मचारियों और प्रचारकों का अपहरण हो गया है.

पूर्वी लग़मान प्रांत और पश्चिमी हेरात प्रांत में हुए ज़्यादातर अपहरणों की ज़िम्मेदारी तालिबान विद्रोहियों ने ली है.

अफ़ग़ानिस्तान में शनिवार को संसदीय चुनाव के लिए मतदान होना है और तालिबान ने चुनाव प्रक्रिया में शामिल होने वाले लोगों को जान से मारने की धमकी दी है.

चुनाव को देखते हुए अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और आत्मघाती हमलों को रोकने के लिए जगह जगह चेक नाके बनाए गए हैं.

संसद के निचले सदन वोलेसी जिरगा की 249 सीटों के लिए कुल ढाई हज़ार उम्मीदवार मैदान में हैं.

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने बीबीसी को बताया है कि उनके साथियों ने लग़मान से उम्मीदवार मौलवी हयातुल्लाह का अपहरण कर लिया है.

उन्होंने ये भी कहा कि तालिबान ने ही बगदिश से 18 चुनाव कर्मचारियों और चुनाव प्रचारकों को अगवा किया है.

यह जानकारी भी सामने आई है कि बुधवार को ही एक अन्य उम्मीदवार सैफ़ुल्लाह मोजददी का अज्ञात बंदूकध़ारियों ने अपहरण कर लिया है.

चुनाव परिणाम 22 सितंबर को घोषित होंगे, पिछले वर्ष हुए राष्ट्रपति चुनाव में भारी धांधली के आरोप लगाए गए थे.

संबंधित समाचार