निशान तो नहीं नाम मिटेगा

बैंक ऑफ़ सिलोन
Image caption सरकारी बैंक का नाम बैंक ऑफ़ सिलोन है

शेक्सपियर की मशहूर उक्ति- नाम में क्या रखा है, बार-बार दोहराई जाती है, ख़ासकर उस समय जब नाम को लेकर बवाल हो रहा हो, लेकिन श्रीलंका सरकार को तो ज़िद इस बात की है कि वो औपनिवेशिक नाम को क्यों ढोए.

तो सरकार का फ़रमान हाज़िर है. श्रीलंका की सरकार ने उन सभी सरकारी संस्थानों के नाम बदलने का फ़ैसला कर लिया है, जो अब भी देश का पुराना औपनिवेशिक नाम सीलॉन लगाए बैठे हैं.

सरकार का हुक्म है कि इसके बदले देश के आधुनिक नाम यानी श्रीलंका का इस्तेमाल किया जाए. वैसे ये सरकारी फ़रमान देश का नाम श्रीलंका किए जाने के 39 साल बाद आया है.

ये बदलाव वर्ष 2011 में जल्द से जल्द किए जाएँगे. कोलंबो से बीबीसी संवाददाता चार्ल्स हैविलैंड का कहना है कि नाम बदलना नए साल का संकल्प है, जिसे कुछ लोग उपनिवेश काल की ग़ैरज़रूरी निशानी मानते हैं.

दरअसल देश के ऊर्जा मंत्री ने सीलॉन इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड का नाम बदलने के लिए एक कैबिनेट मेमो पेश किया था, तो राष्ट्रपति ने सरकारी संस्थानों से सीलॉन नाम हटाने का ही फ़ैसला कर लिया.

बदलाव

वर्ष 1972 में गणराज्य बनने के बाद देश ने ब्रितानी औपनिवेशिक नाम त्यागकर श्रीलंका नाम अपना लिया था. पहले इसका नाम लंका रखा गया था, बाद में इसमें सम्मानसूचक 'श्री' शब्द जोड़ दिया गया.

लेकिन इसके बावजूद सीलॉन नाम देश के कई संस्थानों से जुड़ा हुआ है...मसलन बैंक ऑफ़ सीलॉन और सीलॉन फ़िशरीज़ कॉरपोरेशन.

अब इन संस्थानों के नाम और साइनबोर्ड बदलने की ज़िम्मेदारी एक मंत्रालय को मिल गई है. लेकिन माना जा रहा है कि सीलॉन टी का नाम शायद ही बदला जाए.

इस उद्योग से जुड़े लोगों का मानना है कि अब ये ब्रांड बन गया है, जो देश के बहुचर्चित निर्यात से जुड़ा हुआ है.

हालाँकि कई लोग नाम बदलने के सरकारी फ़रमान से दुखी भी हैं. एक युवक ने बीबीसी को बताया कि सीलॉन शब्द का ऐतिहासिक मतलब है और इससे कई संस्थानों की अहमियत जुड़ी हुई है.

एक ब्लॉगर ने लिखा है कि देश का नया नाम 'आतंकवाद, युद्ध और प्रभाकरण' से जुड़ा हुआ है. इस ब्लॉगर ने सिंगापुर के पूर्व प्रधानमंत्री ली कुवान येव के उस बयान का भी हवाला दिया है, जिन्होंने लिखा था कि वर्ष 1972 में नाम बदलने से देश का भाग्य नहीं सुधरा.

हालाँकि श्रीलंका के अन्य कई लोगों का मानना है कि इस बदलाव को बहुत पहले हो जाना चाहिए था.

संबंधित समाचार