नहीं रहे कृष्ण प्रसाद भट्टराई

  • 5 मार्च 2011
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाली कॉंग्रेस के संस्थापक नेता कृष्ण प्रसाद भट्टराई का शुक्रवार देर रात निधन हो गया.

कृष्ण प्रसाद भट्टराई 87 साल के थे और नेपाली कांग्रेस के संस्थापक नेताओं की अंतिम जीवित कड़ी थे.

नेपाल के ‘नॉर्विक इंटरनेशनल’ अस्पताल के चिकित्सकों के मुताबिक भट्टराई की मृत्यु दिल का दौरा पड़ने से हुई.

भट्टराई पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे और आखिरी समय में उनके गुर्दों ने काम करना बंद कर दिया और इसके बाद वो कोमा में चले गए. 24 घंटे तक उन्हें वेंटीलेटर पर भी रखा गया लेकिन फिर भी उनका हालत में सुधार नहीं हुआ.

भट्टराई के देहांत के बाद उन्हें ललितपुर (बांदेगांव) स्थित कृष्ण प्रसाद भट्टराई आश्रम ले जाया गया.

गांधीवादी विचारधारा के भट्टराई अविवाहित थे और पिछले तीन साल से इस आश्रम में रह रहे थे.

1990 के जनांदोलन की सफलतास्वरूप नेपाल में आए लोकतंत्र के बाद बनी अंतरिम सरकार में भट्टराई प्रधानमंत्री बने.

भट्टराई ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान नए संविधान के तहत लोकतांत्रिक अधिकारों को मान्यता दिलाई.

भ्रष्टाचार के खिलाफ़ उनकी लड़ाई ने उन्हें एक स्वच्छ छवि वाले नेता के रुप में स्थापित किया.

हालांकि 1999 में उनके प्रधानमंत्री काल के दौरान उन्हें पद से हटाने के लिए नेपाली संसद के सदस्यों ने एक हस्ताक्षर अभियान चलाया था.

संबंधित समाचार