अफ़ग़ानिस्तान:नैटो अड्डे पर हमला, पांच की मौत

हेरात में धमाका
Image caption प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उन्होंने धमाके और गोलीबारी की आवाज़े सुनीं

अफ़ग़ानिस्तान में नैटो के एक अड्डे पर हुए आत्मघाती हमले में कम से कम पांच लोग मारे गए हैं.

अफ़ग़ानिस्तान के पश्चिमी शहर हेरात में तालिबान ने नैटो के एक अड्डे एक साथ कई हमले किए हैं जिसमें अब तक मिली ख़बरों के अनुसार कम से कम पांच लोग मारे गए हैं और लगभग 30 घायल हुए हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उन्होंने दो ज़ोरदार धमाके की आवाज़ें सुनी फिर उसके बाद फ़ायरिंग की आवाज़ें आने लगीं.

अधिकारियों का कहना है कि हमले की शुरूआत एक ज़बर्दस्त धमाके के साथ हुई.

शहर के बीचो-बीच बने पार्क के पास सड़क पर धमाका हुआ.

धमाके के बाद आत्मघाती हमलावरों ने नैटो के एक प्रांतीय पुनर्निर्माण टीम या पीआरटी के परिसर पर हमला किया.

ईटली के सैनिक इस परिसर की देख-रेख करते हैं.

पीआरटी में सैनिक और नागरिक प्रशासन मिलकर काम करते हैं. इनका मुख्य उद्देश्य किसी प्रांत में अफ़ग़ानिस्तान सरकार की शासन क्षमता को बढ़ाना है. पूरे अफ़ग़ानिस्तान में कुल 28 पीआरटी केंद्र हैं.

तालिबान ने हाल ही में अफ़ग़ानिस्तान में नए हमले की चेतावनी दी है.

अफ़ग़ानिस्तान के एक ख़ुफ़िया अधिकारी ने बीबीसी को बताया, ''धमाका भीड़ भाड़ वाले इलाक़े में बहुत ही व्यस्त समय में हुआ. पास की बिल्डिंग की खिड़की के शीशे टूट गए. जब धमाका हुआ मैं उसके बिल्कुल पास था.''

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बीबीसी से कहा, ''हमलोग जानते हैं कि बहुत सारे हमलावर हैं. हेलिकॉप्टर भी मंडरा रहें हैं. दुकानें बंद हो गई हैं और सारे शहर में पुलिस और सेना तैनात कर दिए गए हैं.''

काबुल स्थित बीबीसी संवाददाता क्वेंटीन सौमरविल के अनुसार हेरात अपेक्षाकृत शांत शहर है और जल्द ही इसे अफ़ग़ानियों के हवाले करना था लिहाज़ा यह हमला बहुत महत्वपूर्ण हैं.

इससे पहले नैटो के अधिकारियों ने रविवार को नैटो हमले में आम नागरिकों के मारे जाने पर माफ़ी मांगी है. राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने हमले के लिए नैटो की कड़ी आलोचना की थी जिसमें नौ लोग मारे गए थे.

संबंधित समाचार