अफ़गानिस्तान में मस्जिद के बाहर बम हमला

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अफ़गानिस्तान में आत्मघाती हमले पहले भी होते रहे हैं.

अफ़गानिस्तान में अधिकारियों ने बताया है कि उत्तरी प्रांत बाग़लान में एक आत्मघाती बम हमले में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई है.

एक प्रवक्ता ने कहा कि हमला उस वक़्त हुआ जब ईदुलज़ुहा त्यौहार के मौके पर लोग नमाज़ के बाद मस्जिद से बाहर निकल रहे थे. यह धमाका पुराने बाग़लान शहर में हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि मारे गए लोगों में कम से कम एक पुलिसकर्मी शामिल है जबकि कम से कम 12 लोग ज़ख्मी हो गए हैं.

बाग़लान के मुख्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि यह हमला स्थानीय समय के मुताबिक सुबह साढे नौ बजे हुआ जब लोग नमाज़ के बाद मस्जिद से निकल रहे थे और हमलावर पैदल आया था.

एएफ़पी के मुताबिक आंतरिक मामलो के मंत्री के प्रवक्ता सिद्दिक़ सिद्दिक़ी ने बताया है कि वारदात में एक दूसरा हमलावर भी शामिल था जिसे गिरफ़्तार कर लिया गया है.

सिद्दिक़ी ने ईदुलज़ुहा के मौके पर आम नागरिकों के खिलाफ़ हिंसा की निंदा की है.

अभी तक किसी ने हमले की ज़िम्मेदारी नहीं ली है. लेकिन सिद्दिकी ने बताया कि शुरुआती जांच से लगता है कि यह तालिबान का काम है.

चरमपंथी गुट तालिबान अक्सर ऐसे हमले करता रहता है जिसमें सैनिकों के साथ साथ आम नागरिक भी हताहत होते हैं.

हिंसा बढ़ी

पिछले कुछ समय से उत्तरी अफ़गानिस्तान में हमले बढ़ गए हैं. बागलान शांतिप्रिय इलाक़ा रहा है लेकिन साल 2010 से यहां भी हिंसा का स्तर काफ़ी बढ़ गया है.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक 2001 में तालिबान के खिलाफ़ युद्ध छेड़े जाने के बाद से अब तक 2011 के पहले छह महीनों में आम नागरिकों के खिलाफ़ सबसे ज़्यादा हिंसा हुई है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार तालिबान यह दिखाना चाहता है कि वह अब भी सारे देश में हमले कर सकता है.

अफ़गानिस्तान में मौजूद नैटो समर्थित अंतरराष्ट्रीय सैनिक बल अब सुरक्षा की ज़िम्मेदारी धीरे धीरे अफ़गान सेना को दे रही है.

लेकिन अब भी अफ़गानिस्तान में एक लाख चालीस हज़ार विदेशी सैनिक मौजूद हैं.

संबंधित समाचार