अगली बैठक और सकारात्मक होगी: भारत-पाक

मोहम्मद नाशीद के साथ मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मालदीव के राष्ट्रपति को उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान के संबंध सुधरेंगे

भारत के प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने मालदीव में हुई द्विपक्षीय बैठक पर संतोष जताते हुए कहा है कि अगले दौर की बातचीत और ज़्यादा सकारात्मक होगी.

मनमोहन सिंह ने कहा है कि दोनो देशो ने उग्र चर्चाओं में काफ़ी समय बर्बाद कर दिया है लेकिन अब आपसी रिश्ते निभाने में नई इबारत लिखने का समय आ गया है.

दोनों ही नेता मालदीव में दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ यानी सार्क की बैठक में हिस्सा लेने गए हैं.

उससे पहले इन दोनों नेताओं की अहम बातचीत हुई और संवाददाताओं के अनुसार बातचीत काफ़ी सकारात्मक माहौल में हुई.

दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार हुआ है और इसे पूरे क्षेत्र के लिए अच्छा संकेत माना जा रहा है. बैठक से पहले दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने भी कहा था कि अविश्वास पहले से कम हुआ है.

हालाँकि दोनों ने माना कि अभी काफ़ी कुछ मुश्किल काम बचे हैं मगर एक आशावादी माहौल बनता दिखा है.

इससे पहले दोनों देशों के नेता इस साल मार्च में मोहाली में मिले थे जबकि भारत में क्रिकेट का विश्व कप आयोजित हो रहा था और दोनों देश प्रतियोगिता के सेमीफ़ाइनल में भिड़ रहे थे.

उससे पहले ये मुलाक़ात अप्रैल 2010 में भूटान में आयोजित हुए सार्क सम्मेलन के दौरान हुई थी.

वैसे तो कुछ ही दिनों पहले पाकिस्तानी कैबिनेट ने भारत को सर्वाधिक वरीयता वाले देश का दर्जा देना स्वीकार किया है मगर अफ़ग़ानिस्तान को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव भी बना है.

असहज

अफ़ग़ानिस्तान में भारत की मौजूदगी पर पाकिस्तान को आपत्ति रही है और पिछले दिनों अफ़ग़ान राष्ट्रपति हामिद करज़ई की भारत यात्रा के दौरान जो रणनीतिक समझौता हुआ उससे भी पाकिस्तान असहज महसूस कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने कहा है कि अविश्वास की खाई कम हुई है

अमरीका ज़ोर देता रहा है कि भारत और पाकिस्तान मिलकर काम करें और उनके बीच वार्ता जारी रहे. अमरीका को सार्क में चीन और ईरान के साथ पर्यवेक्षक का दर्जा हासिल है.

अमरीका ने दक्षिण और मध्य एशियाई मामलों के सहायक विदेश मंत्री रॉबर्ट ब्लेक को इस सम्मेलन में भेजा है.

मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद नाशीद इस बैठक की अध्यक्षता करेंगे और उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान आपसी मतभेद भुलाकर इस संगठन को नई ऊर्जा देंगे.

वैसे इस सम्मेलन में आपसी व्यापार बढ़ाने पर ज़ोर दिया जाएगा. साथ ही मुक्त व्यापार के अलावा राष्ट्रीय आपदाओं से निबटने में आपसी सहयोग पर भी चर्चा होगी.

इस सम्मेलन का थीम 'बिल्डिंग ब्रिजेज़' है यानी आपसी संबंधों को बेहतर करने पर ज़ोर दिया जाना है.

इस बैठक में जाने से पहले भारतीय प्रधानमंत्री डॉक्टर सिंह ने उम्मीद जताई कि सार्क देश दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार संधि के तहत व्यापार के उदारीकरण की दिशा में बढ़ सकेंगे.

संबंधित समाचार