भारतीय अर्थव्यवस्था के उतार चढ़ाव
 
 
 
 
 
 
 
 
शेयर बाज़ार में सुधार
 
 
 
शेयर बाज़ार

भारतीय अर्थव्यवस्था के उतार चढ़ाव

 

शेयर बाज़ार

भारत का मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) एशिया का सबसे पुराना शेयर बाज़ार है. इसकी स्थापना 1857 में हुई थी और इसमें लगभग 4800 कंपनियाँ सूचीबद्ध हैं. कारोबार के लिहाज से यह दुनिया के पाँच बड़े शेयर बाज़ारों में से एक है.

सन् 1988 में भारत सरकार ने सिक्योरिटी ऐंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ़ इंडिया (सेबी) की स्थापना की थी और 1992 में उसे वैधानिक स्वरूप प्रदान कर दिया गया. इसके जिम्मे भारतीय शेयर बाज़ार का नियमन करना है.

लेकिन नवंबर, 1992 में एक और शेयर बाज़ार- नेशनल स्टॉक एक्सचेंज अस्तित्व में आया.

एनएसई का गठन सरकार के कहने पर वित्तीय संस्थानों, बैंक और बीमा कंपनियों ने किया था.

लेकिन अब एक नए दौर की शुरुआत हुई है और भारतीय कंपनियाँ विदेशों के शेयर बाज़ारों में सूचीबद्ध होने लगी हैं.

मार्च, 1999 में सॉफ्टवेयर क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफो़सिस ने नैस्डैक शेयर बाज़ार में सूचीबद्ध होकर भारतीय कंपनियाँ को नई राह दिखाई.
 
^^ ऊपर चलें बीबीसी हिंदी