भारतीय क्रिकेट के सितारे
 
 
 
 
 
 
 
गुंडप्पा विश्वनाथ
 
 
 
 
गुंडप्पा विश्वनाथ
गुंडप्पा विश्वनाथ

अपने पहले मैच में विश्वनाथ की पारी यादगार रही, चाहे वह पहला प्रथम श्रेणी का मैच हो या फिर पहला टेस्ट मैच. 1967 में अपने पहले प्रथम श्रेणी मैच में विश्वनाथ ने 230 रन बनाए थे जबकि ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अपने पहले टेस्ट मैच में उन्होंने 137 रनों की पारी खेली.

उस समय से वे भारतीय मध्यक्रम की जान बने रहे. उन्होंने भारत के लिए लगातार 87 टेस्ट मैच खेले. कलाई के माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले विश्वनाथ का लेट कट यादगार था. हालाँकि आँकड़े भले ही विश्वनाथ के उतने पक्ष में नहीं हो, वे 70 के दशक में टीम के लिए सुनील गावसकर से किसी भी मायने में कम उपयोगी नहीं थे.

वर्ष 1969 में अपने पहले टेस्ट में शतक लगाने के बाद से ही विश्वनाथ ने हमेशा भारत के लिए उपयोगी पारी खेली. वर्ष 1974-75 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ मद्रास में उन्होंने 97 रनों की पारी खेली. उनकी 97 रनों की पारी इसलिए भी ख़ास थी क्योंकि उन्होंने ये रन एंडी रॉबर्ट्स जैसे घातक गेंदबाज़ों के सामने ये स्कोर बनाया था.

1978-79 में एक बार फिर उन्होंने वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ मैच जिताने वाली पारी खेली. और मैदान था मद्रास का ही. उन्होंने 255 में से नाबाद 124 रन बनाए. वर्ष 1975-76 में क्राइस्टचर्च में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ भी उन्होंने 83 और 79 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी.

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ उनकी कई बेहतरीन पारियाँ लोगों को अब भी याद है. वो चाहे 1972-73 में मुंबई में लगाया गया शतक हो या फिर लॉर्ड्स में 1979 में उनके 113 रनों की पारी हो. उन्होंने 1982 में मद्रास में 222 रनों की पारी खेली थी.

विश्वनाथ की शादी लिटिल मास्टर सुनील गावसकर की बहन से हुई थी. उस ज़माने के ये दोनों रिश्तेदार लिटिल मास्टर वर्षों तक क्रिकेट के पिच पर राज करते रहे. विश्वनाथ ने कुल 91 टेस्ट मैच खेले और 41.93 की औसत से 6,080 रन बनाए. उन्होंने एक विकेट भी लिए.
 
^^ पन्ने पर ऊपर जाने के लिए क्लिक करें बीबीसी हिंदीक्रिकेट परमो धर्म:बदलता भारत