आज़ाद भारत:मुख्य पड़ाव
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
परमाणु समझौता
 
 
आज़ाद भारत के मुख्य पड़ाव

आज़ाद भारत के मुख्य पड़ाव

 

भारत और अमरीका के बीच ऐतिहासिक असैनिक परमाणु समझौते की नींव पड़ी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अमरीका यात्रा के दौरान.

18 जुलाई 2005 को वाशिंगटन में मनमोहन सिंह और अमरीकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने साझा बयान जारी कर प्रस्तावित परमाणु क़रार की घोषणा की.

इसके बाद मार्च 2006 में जब बुश भारत की यात्रा पर आए तो सैनिक और असैनिक परमाणु रिएक्टरों को अलग करने पर भी सहमति बन गई.

इसके बाद अमरीकी संसद ने हेनरी हाइड एक्ट पारित किया लेकिन करार को अमली जामा पहनाने से संबंधित 1-2-3 समझौते पर काफी अरसे तक सहमति नहीं बन पाई.

आख़िरकार जुलाई 2007 में इस पर भी सहमति बन गई है और दोनों देश तेज़ी से इस समझौते पर आगे बढ़ रहे हैं.
 
^^ पन्ने पर ऊपर जाने के लिए क्लिक करें