अक्षय ऊर्जा के स्रोत
भूमिका
 
 
 
 
 
 
 
 
अक्षय ऊर्जा के स्रोत

अक्षय ऊर्जा के स्रोत

 

दुनिया के सभी देश पृथ्वी के बढ़ते तापमान को लेकर चिंतित हैं और इस कोशिश में जुटे हैं कि ऊर्जा की ऐसी तकनीक विकसित की जाए जिससे ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम हो सके.

इन गैसों के उत्सर्जन के लिए काफ़ी हद तक मानवीय गतिविधियों को ज़िम्मेदार माना जाता है. जीवाश्म ईंधन का प्रयोग, इमारतों का निर्माण, औद्योगिक विकास, पशुपालन, जंगलों की कटाई जैसी गतिविधियों ने ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में वृद्धि की है और अगर ये सिलसिला इसी तरह चलता रहा तो पृथ्वी का बहुत सा हिस्सा रहने लायक़ नहीं बचेगा.

ऊर्जा के वो प्राकृतिक स्रोत जिनका क्षय नहीं होता या जिनका नवीकरण होता रहता है और जो प्रदूषणकारी नहीं हैं, उन्हे अक्षय ऊर्जा के स्रोत कहा जाता है. जैसे सूर्य, जल, पवन, ज्वार-भाटा, भूताप आदि.

(प्रस्तुति- ममता गुप्ता)
 
^^ ऊपर चलें पहले पन्ने पर चलें