तस्वीरों में-  ब्लूस्टार के बाद बाग़ी हुए सैनिकों की आपबीती

पच्चीस साल पहले जून 1984 में सिखों के अमृतसर स्थित पावन स्थल हरिमंदिर साहब पर सैन्य कार्रवाई हुई. इसके विरोध में भारतीय सेना के 6000 से ज़्यादा सैनिक बाग़ी हो गए. कोर्ट मार्शल और फिर सज़ा भुगतने के बाद इनमें से अनेक को फौज में फिर शामिल किया गया. सिख समुदाय ने इन्हें 'धर्मी फ़ौजी' कहा. बीबीसी संवाददाता अतुल संगर के साथ अमृतसर में बातचीत के दौरान कई बाग़ियों ने स्पष्ट कहा - "हमने भावनाओं में बहकर अपना विरोध दर्ज करने के लिए बग़ावत की थी. हमें ख़ालिस्तान से कोई मतलब नहीं, न ही हम कभी संत जरनैल सिंह से प्रभावित हुए थे."
तस्वीरें देखने के लिए क्लिक करें
पिछली  
2 3 4 5
  अगली