इनकी 'रेड' से भारत बना विश्व विजेता!

  • राखी शर्मा
  • बीबीसी हिंदी के लिए

कबड्डी वर्ल्ड कप 2016 के फ़ाइनल में ईरान से पिछड़ रही भारतीय टीम को उसके रेडर अजय ठाकुर के दम पर करिश्माई जीत मिली थी.

भारत ने ईरान को 39-28 से हरा कर कबड्डी वर्ल्‍ड कप 2016 का खिताब जीता. अजय ठाकुर को वर्ल्ड कप में शानदार खेल के लिए 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' चुना गया था.

आइए, जानते हैं अजय ठाकुर की ज़िंदगी की दस बातें.

अजय ठाकुर हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ के निवासी हैं.

कप्तान अनूप कुमार से अजय ठाकूर के गहरी दोस्ती है. दोनों 2005 में एक साथ टीम में आए थे और तभी से रूम पार्टनर भी हैं. अनूप कुमार जहां कूल कप्तान हैं, वहीं अजय का खेल आक्रामक है.

अजय को कुत्तों से बड़ा लगाव है. उनके पास पिटबुल और बुली नस्ल के दो कुत्ते हैं. खाली समय में वो इन दोनों के ही साथ वक्त बिताते हैं.

13 साल की उम्र में अजय घर से भागकर कबड्डी टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पहुंचे थे.

अजय के पिता पहलवान हैं और उनकी मां टीचर हैं. अजय की कामयाबी में दोनों का ही बड़ा योगदान है.

प्रो कबड्डी लीग में अजय की शुरुआत बेंगलुरु बुल्स के साथ हुई. फिलहाल वो पुनेरी पलटन में हैं.

प्रो कबड्डी लीग में अजय ठाकुर अपनी 'फ्रॉग जम्प' के लिए मशहूर हैं. विपक्षी टीम पर कामयाब रेड के बाद अकसर उन्हें ऐसा करते देखा जाता है.

अजय एअर इंडिया में सर्विस सुपरवाइज़र हैं. वे कुछ समय तक भारतीय नेवी में भी थे.

कबड्डी के अलावा अजय को वॉलीबॉल का बहुत शौक है. खाली समय में वो दोस्तों के साथ वॉलीबॉल खेलते हैं.

भारत की 2007 एशियाई इंडोर खेलों में स्वर्ण पदक जीत में अजय ठाकुर की अहम भूमिका रही थी. वो 2014 एशियाई खेलों की गोल्ड मेडल टीम का भी हिस्सा रहे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)