भारतीय बैडमिंटन की नई सनसनी समीर वर्मा

  • 27 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट EPA

हांगकांग ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के महिला एकल फ़ाइनल में पहुंची भारतीय खिलाड़ी पीवी सिंधु को तो अब किसी परिचय की ज़रूरत नहीं है लेकिन टूर्नामेंट के पुरुष सिंगल्स के फ़ाइनल में पहुंचे समीर वर्मा के बारे में बहुत कम लोगों को पता है.

समीर ने सेमीफ़ाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त डेनमार्क के जान ओ जोर्गेनसेन को 21-19, 24-22 से हराकर सनसनी फैला दी. हालांकि उनको फ़ाइनल में नग का लोंग एंगस ने 21-14, 10-21, 21-11 से हरा दिया.

इमेज कॉपीरइट SAINA NEHWAL TWITTER HANDLE
Image caption साइना नेहवाल ने समीर वर्मा के साथ ये तस्वीर हाल ही में ट्वीट की

अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन जगत में इस मैच से पहले समीर वर्मा का कोई ख़ास नाम नहीं था. लेकिन अचानक विश्व नंबर तीन खिलाड़ी को हराने की वजह से वो सुर्ख़ियों में आ गए. जानते हैं समीर वर्मा के बारे में पांच अहम बातें.

  1. विश्व में 43वीं वरीयता प्राप्त समीर इससे पहले किसी सुपर सिरीज़ टूर्नामेंट के दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़े थे .
  2. जान ओ जोर्गेनसेन और समीर वर्मा के बीच ये पहला मैच था.
  3. समीर वर्मा मध्यप्रदेश के धार के रहने वाले हैं. उनके भाई सौरभ वर्मा भी मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी हैं.
  4. समीर वर्मा हैदराबाद की पुलेला गोपीचंद अकादमी से निकले हैं. वो वर्तमान में हैदराबाद में ही रहते हैं.
  5. समीर ने इसी साल अप्रैल में चंडीगढ़ में हुई नेशनल चैंपियनशिप जीती थी. फ़ाइनल में उन्होंने अपने भाई सौरभ वर्मा को हराया था. सौरभ ने साल 2012 में ये चैंपियनशिप जीती थी.

पीवी सिंधु भी रविवार को ही अपना फ़ाइनल मुक़ाबला हार गई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए