साल 2016 में छाए रहे सिंधु, साक्षी, विजेंदर और कोहली

  • आदेश कुमार गुप्त
  • खेल पत्रकार, बीसीसी हिंदी डॉटकॉम के लिए
विराट कोहली

भारतीय खेल जगत के लिए साल 2016 काफी चमकदार रहा.

  • क्रिकेट में विराट कोहली, मुक्केबाज़ी में विजेन्दर सिंह और हॉकी में जूनियर टीम अंडर-19 विश्व चैंपियन बनकर चमकी.
  • वहीं रियो ओलंपिक में साक्षी मलिक और पीवी सिंधू, पैरालंपिक खेलो में मरियप्पन थंगवेलू, तरूण सिंह भाटी, दीपा मलिक और देवेंद्र झाझरिया ने पदक जीते.
  • टेनिस में लिएंडर पेस ने स्विट्ज़रलैंड की मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर मिश्रित युगल वर्ग का करियर ग्रैंड स्लैम पूरा किया.
  • गोल्फ में महिला खिलाड़ी अदिति अशोक सितारा बनकर उभरीं.

...तो एक नज़र साल 2016 के स्टार खिलाडियों पर:

इमेज कैप्शन,

विराट कोहली

1. भारत की क्रिकेट टीम इस साल टेस्ट क्रिकेट में अजेय रही.

विराट कोहली की कप्तानी में टीम ने इस साल वेस्ट इंडीज़ से चार टेस्ट मैचों की सिरीज़ 2-0 से जीती. इसके बाद न्यूज़ीलैंड को 3-0 से और इंग्लैंड को पांच टेस्ट मैचों की सिरीज़ में 4-0 से धोया.

बल्लेबाज़ी में विराट कोहली ने इस साल वेस्टइंडीज, न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड के ख़िलाफ तिहरा शतक जमाया और कोहली ने 12 टेस्ट मैचों की 18 पारियों में चार शतक और दो अर्धशतक की मदद से 1215 रन भी बनाए.

2. इसी साल रियो में आयोजित 31वें ओलंपिक खेलों में 100 से अधिक एथलीटों के बीच भारत के हाथ भी दो पदक लगे.

बैडमिंटन में भारत की पीवी सिंधू ने रजत पदक जीता. वो फाइनल मुकाबले में स्पेन की कैरोलिना मारिन से 21-19, 12-21, 15-21 से हार गई थीं.

इमेज कैप्शन,

साक्षी मलिक-पीवी सिंधू

इसके अलावा भारत की महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 58 किलो भार वर्ग में कांस्य पदक जीता.

साक्षी मलिक को यहां रैपचेज़ मुक़ाबले में उतरा पड़ा था, जिसके बाद उन्होंने मंगोलिया की पूरेवदोर्जिन ओरख़ोन को 3-1 से हराया और उसके बाद कांस्य पदक के मुक़ाबले में किर्गिस्तान की अईसूलू टिनीबेकोवा को 8-5 से हराकर पदक अपने नाम किया.

3. रियो में ही आयोजित पैरालंपिक खेलो में भारत ने दो स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक भी जीता.

मरियप्पन थंगवेलू ने पुरुष वर्ग की हाई जंप T-42 स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता. इसी स्पर्धा में भारत के तरूण सिंह भाटी ने भी कांस्य पदक जीता.

इमेज कैप्शन,

दीपा मलिक

भारत की दीपा मलिक ने महिलाओं की शॉट पुट F-43 स्पर्धा में रजत पदक जीता. और आख़िरी पदक रहा भारत के देवेन्द्र झाझरिया का, जिन्होंने पुरुषों की भाला फेंक F-46 स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता.

4. मुक्केबाज़ी में भारत के विजेन्दर सिंह इस साल छाए रहे.

पेशेवर मुक्केबाज़ी में पहले तो उन्होंने अपने छठे मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया के कैरी होप को हराकर WBA एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट चैंपियनशिप का ख़िताब जीता.

इमेज कैप्शन,

विजेन्दर सिंह

उसके बाद उन्होंने अपने सांतवे मुक़ाबले में तंजानिया के पूर्व विश्व चैंपियन फ्रांसिस चेका को तीसरे राउंड में हराकर ख़िताब का बचाव भी किया.

5. भारत की सीनियर हॉकी टीम इस साल अपने इतिहास में पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची.

यहां वह ऑस्ट्रेलिया से पेनल्टी शूट आउट में 3-1 से हारी.

लेकिन भारत ने एशियन पुरूष हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी के फ़ाइनल में पाकिस्तान को 3-2 से हराकर टाइटल अपने नाम किया.

वहीं भारत की महिला हॉकी टीम ने भी अपना दमख़म दिखाते हुए वंदना कटारिया की कप्तानी में खेलते हुए एशियन महिला चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की. यहां भारतीय महिला टीम का फ़ाइनल मुक़ाबला चीन के साथ था, जिसमें भारतीय टीम ने 2-1 से जीत हासिल की.

इमेज कैप्शन,

वंदना कटारिया

साथ ही हॉकी में इस साल भारत की जूनियर हॉकी टीम भी अंडर-19 विश्व कप जीतने में कामयाब रही.

लखनऊ में समाप्त हुए टुर्नामेंट में भारत ने ख़िताबी मुक़ाबले में बेल्जियम को 2-1 से हराया.

6. टेनिस में इस साल भारत के लिएंडर पेस ने मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर खेलते हुए फ्रैंच ओपन में मिश्रित युगल का ख़िताब जीतते हुए अपने टेनिस करियर का ग्रैंड स्लैम पूरा किया.

इमेज कैप्शन,

लिएंडर पेस-सानिया मिर्ज़ा

वहीं भारत की सानिया मिर्ज़ा ने भी मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में महिला युगल वर्ग का ख़िताब जीता.

7. बैडमिंटन में भारत की स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल ने इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन बैडमिंटन टुर्नामेंट जीता.

वहीं पीवी सिंधू ने इस साल का मलेशिया मास्टर्स और चाइना ओपन ख़िताब अपने नाम किया.

इमेज कैप्शन,

साइना नेहवाल

8. गोल्फ में भी भारत की अदिति अशोक महिला इंडियन गोल्फ टुर्नामेंट जीतकर यूरोपियन टूर का ख़िताब जीतने वाली भारत की पहली महिला गोल्फर बनीं.

9. भारत के पंकज आडवाणी ने इस साल भी छोटे प्रारूप में विश्व बिलियर्डस ख़िताब जीतकर अपने ख़िताबों की संख्या 16 कर ली.

अब देखना है कि साल 2017 में भारतीय खिलाड़ी अपनी कामयाबी का परचम कहां तक फहरा पाते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)