विराट ने कहा धोनी अब खुलकर खेल सकेंगे

  • 14 जनवरी 2017
कोहली इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption विराट कोहली और धोनी

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कप्तान विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी की जमकर तारीफ़ की. उन्होंने कहा कि दोनों साथ मिलकर टीम को नई ऊंचाई तक पहुंचाने का काम करेंगे. हाल में ही में विराट कोहली को वनडे और टी20 की भी कप्तानी सौंपी गई है. इससे पहले विराट कोहली के पास केवल टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी थी.

इमेज कॉपीरइट AP

टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने कहा कि वनडे और टी20 की कप्तानी का बोझ धोनी के कंधे के हट गया है और अब वह खुलकर प्रयोग कर सकेंगे. कोहली ने कहा, ''धोनी कप्तानी के बोझ से मुक्त हो गए हैं और अब वह खुलकर बैटिंग करेंगे.'' कोहली ने यह बात पुणे में इंग्लैंड के साथ शुरू होने वाली वनडे सिरीज़ से पहले कही है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption धोनी ने हाल ही में वनडे की कप्तानी छोड़ी है

कोहली ने कहा, ''धोनी तेज-तर्रार क्रिकेटरों में से एक हैं.'' कोहली ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों की कप्तानी मिलने पर अपनी ख़ुशी भी ज़ाहिर की. कोहली ने कहा, ''मैं काफ़ी सम्मानित महूसस कर रहा हूं. मेरा मानना है कि मेरे लिए इससे बढ़िया और कुछ नहीं हो सकता. क्रिकेट के तीनों प्रारूपों की कप्तानी मिलने से मैं ख़ुश हूं. मेरे लिए यह एक जिम्मेदारी है और इसे निभाऊंगा.''

मुझसे भी ज़्यादा मैच जीतेंगे कोहली: धोनी

धोनी 'महान' लेकिन विवादों पर चुप्पी क्यों?

धोनी ने क्यों छोड़ी कप्तानी?

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कोहली ने इन दिनों क्रिकेट के सभी प्रारूपों में शानदार प्रदर्शन किया है

विराट ने अपनी कप्तानी में पहले वनडे के बैटिंग ऑर्डर पर कुछ नहीं कहा. उन्होंने कहा कि कोई भी चोटिल नहीं है और सभी उपलब्ध हैं. विराट ने कहा कि टीम इंडिया चैम्पियंस ट्रॉफ़ी की तरफ़ देख रही है. उन्होंने कहा कि कौन कब बैटिंग करेगा यह कोई मुद्दा नहीं है.

कोहली ने कहा, ''मैं बैटिंग ऑर्डर में कोई बड़ा प्रयोग नहीं करने जा रहा हूं क्योंकि बड़ा टूर्नामेंट चैम्पियंस ट्रॉफी का आने वाला है.'' इंग्लैंड वनडे को लेकर विराट ने कहा कि विकेट हासिल करने के मामले में टीम को ज़्यादा आक्रामकता से खेलना होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे