आईपीएल: गंभीर-लिन की रिकॉर्ड साझेदारी ने कोलकाता को दिलाई जीत

  • 7 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट KKR

राजकोट में खेले गए आईपीएल के तीसरे मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स ने गुजरात लायंस को 31 गेंद रहते 10 विकेट से हरा दिया है.

गौतम गंभीर और क्रिस लिन ने ताबड़तोड़ पारियाँ खेलीं और कोलकाता को बेहद आसान जीत दिलाई . इस दौरान दोनों ने आईपीएल में पहली विेकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड भी बनाया.

पहले ये रिकॉर्ड गेल-दिलशान के नाम था जिन्होंने 167 रनों की साझेदारी की थी. जबकि गंभीर-लिन के बीच 184 रनों की साझेदारी हुई. गंभीर 76 और लिन 93 रन बनाकर नॉट आउट रहे.

टॉस जीतकर कोलकाता ने पहले फ़ील्डिंग चुनी और 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 184 रनों का लक्ष्य रखा.

गुजरात के लिए जेसन रॉय और मेक्कलम ने पारी शुरु की. रॉय तो 14 रन ही बना सके लेकिन मेक्कलम ने 24 रनों में 34 रन बनाए और उनका साथ ख़ूब निभाया कप्तान सुरैश रैना ने. उन्होंने 67 रन ठोके और अंत तक आउट नहीं हुए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वहीं दिनेश कार्तिक अपना अर्धशतक बनाने से तीन रनों से चूक गए. छह चौके और दो छक्कों की मदद से उन्होंने 47 रन बनाए.

कोलकाता की तरफ़ से कुलदीप यादव ने दो विकेट लिए- मेक्कलम और एरॉन फ़िंच (15 रन).

गुजरात की टीम में जडेजा और ब्रावो चोटिल होने के कारण नहीं खेल रहे.

गुजरात की टीम ने 183 का स्कोर खड़ा किया.

कोलकाता की पारी

इमेज कॉपीरइट Twitter

बदले में कोलकाता के लिए कप्तान गौतम गंभीर और क्रिस लिन ने बेहरतीन शुरुआत की. दोनों ने मैदान पर चौके-छक्कों की बरसात की और देखते ही देखते अर्धशतक पूरे कर लिए. इस दौरान गुजरात के गेंदाबज़ बेबस और बेअसर नज़र आ रहे थे.

गंभीर और लिन ने अपने दम पर कोलकाता को अपने पहले मैच में जीत दिला थी. दूसरे बल्लेबाज़ों के खेलने की नौबत ही नहीं आई.

गंभीर के 76 रनों में 12 चौके शामिल थे जबकि लिन 6 चौके और 8 छक्के लगाए.

कोलकाता ने 15वें ओवर में ही जीता हासिल कर ली थी.

पिछले सीज़न में दोनों टीमों टॉप-4 में पहुँची थी.

शनिवार को आईपीएल में पंजाब और पुणे के बीच इंदौर में होगा तो बंगलौर में दिल्ली और बंगलौर का मुकाबला होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे