धर्मशाला वनडे: श्रीलंका ने सात विकेट से भारत को हराया

  • 10 दिसंबर 2017
श्रीलंका जीता इमेज कॉपीरइट Twitter/icc

धर्मशाला वनडे में श्रीलंका ने भारत को सात विकेट हरा दिया है. 113 रनों के आसान लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंकाई टीम ने 20.4 ओवर में ही जीत हासिल कर ली.

श्रीलंका की तरफ से उपुल थरंगा ने सबसे ज़्यादा 49 रन बनाए, 46 गेंदों की पारी में उन्होंने 10 चौके जड़े. वहीं एंजेलो मैथ्यूज ने नाबाद 25 और निरोशन डिक्वैला ने भी नाबाद 26 रनों की पारी खेली.

इस जीत के साथ ही श्रीलंका ने तीन वनडे मैचों की सिरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली है. भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या ने 1-1 विकेट हासिल किए.

भारत की खराब बल्लेबाज़ी

इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम के लिए रविवार का दिन किसी बुरे सपने जैसा रहा.

विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को छोड़ सभी भारतीय बल्लेबाज़ों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा और पूरी टीम 38.2 ओवरों में 112 रनों पर सिमट गई.

विकेटों के पतझड़ के बीच वो धोनी ही थे जिन्होंने अपना 300 से अधिक वनडे मैचों का अनुभव धर्मशाला के इस 22 गज के टुकड़े पर झोंक दिया और टीम को अपना नया न्यूनतम स्कोर बनाने से बचा लिया.

एक समय भारत के 29 रन पर सात विकेट गिर गए थे. श्रीलंका के तेज़ गेंदबाज़ सुरंगा लकमल ने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 10 ओवर में 13 रन देकर चार विकेट चटकाए.

इमेज कॉपीरइट Twitter/icc

धोनी का संघर्ष

धोनी ने 87 गेंदों में 65 रन की पारी खेली. इस दौरान उन्होंने 10 चौके और दो छक्के जड़े. इसके अलावा धोनी ने कुलदीप यादव के साथ आठवें विकेट के लिए 41 रनों की साझेदारी की.

भारत की तरफ से धोनी और कुलदीप (19) के अलावा सिर्फ़ हार्दिक पंड्या (10) ही दहाई का आंकड़ा देख सके.

भारत की ओर से रोहित शर्मा ने दो, श्रेयस अय्यर ने नौ और मनीष पांडेय ने दो रन का योगदान दिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जबकि शिखर धवन और दिनेश कार्तिक अपना खाता भी नहीं खोल पाए. इस मैच के लिए टीम के कप्तान विराट कोहली उपलब्ध नहीं हैं, लिहाजा रोहित शर्मा कप्तानी कर रहे हैं.

भारत का वनडे में अब तक का सबसे कम स्कोर श्रीलंका के ख़िलाफ़ ही रहा है. शारजाह में 29 अक्टूबर, 2000 को भारतीय टीम श्रीलंका के ख़िलाफ़ महज 54 रनों पर सिमट गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे