IPL: अरबों का वारिस सिर्फ़ 30 लाख में क्यों बिका?

  • 29 जनवरी 2018
आर्यमन बिड़ला इमेज कॉपीरइट Aryaman Birla-Instagram

कुमार मंगलम बिड़ला. भारतीय उद्योगपति, देश के सबसे बड़े कारोबारी समूहों में से एक आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नॉलॉजी एंड साइंस के चांसलर और आईआईटी, दिल्ली के चेयरमैन.

बिड़ला ग्रुप के मालिक कुमार मंगलम बिड़ला को कौन नहीं जानता. लेकिन क्या आप उनके बेटे आर्यमन बिड़ला को जानते हैं? नहीं जानते तो जान लीजिए क्योंकि अगर क़िस्मत ने साथ दिया तो वो आपको इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के किसी मैच में खेलते हुए नज़र आ सकते हैं.

कुमार की नेटवर्थ 12.7 अरब डॉलर (80,825 करोड़ रुपए) है और उनके तीन बच्चे हैं. अनन्या और अद्वैतशा बेटी हैं और आर्यमन बिड़ला उनके बेटे. और इन तीनों में आर्यमन की कहानी ख़ास है.

आम तौर पर कारोबारी घराने के नौजवान अपने पिता का काम संभालते हैं, लेकिन आर्यमन के साथ ऐसा नहीं है. वो रणजी ट्रॉफ़ी में मध्य प्रदेश की तरफ़ से खेलते हैं और इस बार आईपीएल में वो 30 लाख रुपए में राजस्थान रॉयल्स के हिस्से में चले गए. उनका बेस प्राइस 20 लाख रुपए था.

हालांकि, शुरुआत में वो किसी भी टीम को आकर्षित करने में कामयाब नहीं रहे थे लेकिन बाद में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीवन स्मिथ की अगुवाई वाली राजस्थान रॉयल्स ने उनमें दिलचस्पी दिखाई. उन्हें पहले नज़रअंदाज़ करने की वजह भी समझ नहीं आती.

टी-20 टीम में रैना की वापसी, युवराज नहीं चुने गए

याद रहेगा विराट कोहली का ये जवाब

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सी के नायडू ट्रॉफ़ी में उन्होंने छह मैचों की 11 पारियों में 79.50 की औसत से 795 रन बनाए हैं. मध्य प्रदेश की ओर से खेलते हुए उन्होंने चार शतक और एक अर्धशतक भी लगाया.

'टैलेंट दिखाना चाहता हूँ'

अंडर-23 स्तर पर बढ़िया हाथ दिखाने वाले आर्यमन ने रणजी ट्रॉफ़ी का एक मैच भी खेला है और वो आईपीएल को अपना टैलेंट दिखाने के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं.

स्पोर्टस्टार ने आर्यमन के हवाले से कहा, ''ये मेरे लिए सीखने का बड़ा मौका है. नौजवान क्रिकेटर के लिए ये बड़ा अवसर है और मैं इस टीम का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं जहां इतने सारे महान खिलाड़ियों से साथ ड्रेसिंग रूम में बैठने का मौका मिलेगा.''

इमेज कॉपीरइट Aryaman Birla-Instagram

रईस परिवार से आने के बावजूद उन्हें टीम में जगह आसानी से नहीं मिली. उन्होंने कहा, ''मैं तीन साल पहले मध्य प्रदेश गया. मुझे मुंबई में मौके नहीं मिल रहे थे और तभी मुझे मध्य प्रदेश के रीवा से खेलने का अवसर मिला. टीम में आना भी आसान नहीं था. मुझे अपनी जगह बनानी पड़ी. खुशी है कि मैं ऐसा कर सका.''

लेकिन आईपीएल में चुने जाने को लेकर उनके माता-पिता की क्या प्रतिक्रिया थी? उन्होंने कहा, ''मेरे माता-पिता (कुमार मंगलम और नीरजा बिड़ला) काफ़ी खुश हैं. मैं नीलामी के दौरान मैदान पर था और इसके ख़त्म होने के बाद ही मुझे इसकी जानकारी मिली.''

डेक्कन क्रॉनिकल से बातचीत में उन्होंने पिछले साल कहा था, ''मैंने अपनी पूरी ज़िंदगी क्रिकेट खेला है. मैं आठ या नौ साल का था जब क्रिकेट खेलना शुरू किया.''

पिछले साल अक्टूबर में मध्य प्रदेश की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने 153 रनों की पारी खेली थी जिसके बाद वो चर्चा में आए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे