अंडर-19 वर्ल्ड कप में धूम मचाने वाले 5 इंडियन

  • 30 जनवरी 2018
टीम इंडिया इमेज कॉपीरइट AFP

दुनिया में ऐसे सिर्फ़ दो देश हैं जो तीन-तीन बार अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत चुके हैं. भारत और ऑस्ट्रेलिया. और इस बार दुनिया को ये चमचमाती ट्रॉफ़ी चौथी बार चूमने वाला पहला विजेता मिलेगा क्योंकि ये दोनों ही टीमें एक बार फिर इस कप के खिताबी मुक़ाबले में आमने-सामने होंगी. टूर्नामेंट का आख़िरी मैच शनिवार को खेला जाएगा.

भारतीय टीम का सफ़र इस टूर्नामेंट में धमाकेदार रहा है. पहले मैच में उसने इसी ऑस्ट्रेलिया को करारी शिकस्त दी थी. इसके बाद टीम इंडिया ने पापुआ न्यू गिनी, ज़िम्बाब्वे, बांग्लादेश जैसी टीमों को किनारे लगाया और सेमीफ़ाइनल में पाकिस्तान को बाहर कर दिया.

ख़ास बात ये कि इन सभी जीतों में भारतीय टीम को नए हीरो मिले हैं. न्यूज़ीलैंड में बनाए जाने वाले रन हो या ली जाने वाली विकेटें, वहां की परफ़ॉर्मेंस की गूंज बेंगलुरु में होने वाली आईपीएल नीलामी तक सुनाई दी.

इस टूर्नामेंट में कौन से भारतीय खिलाड़ी सितारे बनकर उभरे, ये रहा ब्योरा:

पृथ्वी शॉ, कप्तान

इमेज कॉपीरइट facebook.com/cricketworldcup
Image caption अंडर 19 टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ

घरेलू क्रिकेट में रन-मशीन और भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम के कप्तान ने इस टूर्नामेंट में गज़ब की अगुवाई की है. पहला मैच कठिन था, लेकिन शॉ ने टीम को जीत की राह पर लाने का मंत्र तलाश लिया.

कप्तानी के अलावा उनका बल्ला भी ख़ूब चल रहा है. वर्ल्ड कप के पांच मैचों की चार पारियों में शॉ ने 77.33 की औसत से अब तक कुल 232 रन जुटाए हैं और टूर्नामेंट में उनका अत्यधिक स्कोर 94 रन रहा है जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ बनाए.

अंडर-19 वर्ल्ड कप: पाकिस्तान को धोकर भारत फ़ाइनल में

IPL: अरबों का वारिस सिर्फ़ 30 लाख में क्यों बिका?

कप्तानी और बल्ले के अलावा उनकी फ़ील्डिंग ने भी ध्यान खींचा है. पाकिस्तान के ख़िलाफ़ सेमीफ़ाइनल मुकाबले में उन्होंने ईशान की गेंदों पर शानदार कैच लपककर विरोधी बल्लेबाज़ों को पवेलियन भेजा.

2017-18 के रणजी ट्रॉफ़ी सीज़न में शॉ ने तीन शतक की मदद से छह मैचों में 537 रनों का पहाड़ खड़ा किया. आईपीएल की निगाह भी उन पर गई. 20 लाख बेस प्राइस वाले शॉ को दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने 1.2 करोड़ रुपए में ख़रीदा.

शुभमन गिल, उप कप्तान

इमेज कॉपीरइट facebook.com/cricketworldcup
Image caption भारतीय टीम के उप कप्तान शुभमन गिल

कप्तान के पद्चिन्हों पर चलते हुए भारतीय अंडर-19 टीम के उप-कप्तान शुभमन गिल भी टूर्नामेंट में ख़ासे चमक रहे हैं. सेमीफ़ाइनल मैच में उनके शानदार शतक ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारतीय टीम को 272 रनों तक पहुंचाया.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 63 रन, ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ 90 और बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 86 रनों की उनकी पारियां भी ख़ास रहीं. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ फ़ाइनल मैच में उनके बल्ले से काफ़ी उम्मीद रहेगी.

उनादकट में ऐसा क्या है जो 11.5 करोड़ में बिके?

गेल की नीलामी पर आईपीएल में ऐसे हुआ खेल

अंडर-19 वर्ल्ड कप की बात करें तो पांच मैचों की चार पारियों में उन्होंने 170.50 की औसत से शानदार 341 रन बनाए हैं. इन रनों में एक शतक और 3 अर्धशतक शामिल है. टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वालों में वो फिलहाल दूसरे पायदान पर हैं.

आईपीएल की नीलामी में गिल में भी दिल्ली डेयरडेविल्स की दिलचस्पी थी, लेकिन बाद में उन्हें कोलकाता नाइट राइडर्स ने 1.8 करोड़ रुपए में खरीदा.

अनुकूल रॉय

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अनुकूल रॉय

पांच मैच, 26 ओवर, 95 रन देकर 12 विकेट. औसत 7.91 और एक मैच में सिर्फ़ 14 रन देकर पांच विकेट. अब तक खेले गए हर मैच में उन्होंने विकेट लिए हैं.

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ एक, पापुआ न्यू गिनी के ख़िलाफ़ पांच, ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ चार, बांग्लादेश और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ एक-एक विकेट.

टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वालों में वो फिलहाल चौथे पायदान पर है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ उनका बल्ला भी चला.

समस्तीपुर के रवींद्र जडेजा के तौर पर जाने वाले रॉय पिछले साल जून-जुलाई में इंग्लैंड में हुए यूथ वनडे में भी उन्होंने सबसे ज़्यादा विकेट लिए थे. चार मैच में दस विकेट.

कमलेश नागरकोटी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कमलेश नागरकोटी

18 साल उम्र और 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार, वो भी लगातार. नागरकोटी की गेंद जब 149 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंची तो न्यूज़ीलैंड में जारी अंडर-19 वर्ल्ड कप में मौजूद सभी की निगाहें घूम गईं.

अब तक खेले पांच मैचों में उन्होंने 33 ओवर फेंके हैं और सिर्फ़ 106 रन देकर सात विकेट चटकाए. 3.19 रनों की इकॉनॉमी बताती है कि उनकी गेंदों से निपटने में दूसरे देशों के बल्लेबाज़ों को कितनी दिक्कतें पेश आ रही हैं.

एक और ख़ास बात है. इस बार की अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम से आईपीएल में पहुंचे सभी खिलाड़ियों में नागरकोटी सबसे महंगे साबित हुए हैं.

20 लाख रुपए बेस प्राइस था, लेकिन उन्हें कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें 3.2 करोड़ रुपए की मोटी रकम में ख़रीदा. इसके अलावा उनकी फ़ील्डिंग की भी ख़ासी चर्चा हो रही है.

शिवम मावी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शिवम मावी

140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार, वो भी लगातार. इसके अलावा टीम को जल्द से जल्द विकेट दिलाने की क्षमता. पांच मैचों में ली गई आठ विकेट, वो भी अहम मौकों पर.

उन्हें दो बार आईपीएल जीतने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स ने तीन करोड़ रुपए में ख़रीदा है. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पहले मैच में उन्होंने 45 रन देकर तीन विकेट लिए थे.

इसके बाद उन्होंने पापुआ न्यू गिनी और ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ भी टीम को शुरुआती कामयाबी दिलाई.

ज़ोनल लेवल पर चैलेंजर्स टूर्नामेंट में बढ़िया प्रदर्शन कर उन्होंने चयनकर्ताओं की निगाह खींची थी, जहां उन्होंने चार मैचों में नौ विकेट चटकाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे