पहली बार द. अफ़्रीका में सिरीज़ जीत भारत ने रचा इतिहास

इमेज कॉपीरइट Twitter/@ICC

ऑफ स्टंप के बाहर गिरने के बाद युजवेंद्र चहल की वह गेंद इस तरह अंदर आई कि निचले क्रम के दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ मॉर्ने मोर्कल कुछ समझ नहीं पाए. गेंद उनके पैड पर लगी और भारत ने इतिहास रच दिया.

दक्षिण अफ़्रीका में पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम ने कोई सिरीज़ जीती है. इसी के साथ भारतीय टीम आईसीसी की वनडे रैंकिंग में दक्षिण अफ़्रीका को पछाड़कर पहले नंबर पर पहुंच गई है. इस वक़्त टीम इंडिया टेस्ट और वनडे दोनों की रैंकिंग में नंबर-वन है.

उतार-चढ़ाव से भरपूर सिरीज़ के पांचवें मैच में विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम ने मेज़बान दक्षिण अफ़्रीका को 73 रनों से हरा दिया.

भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए द. अफ़्रीका के सामने 275 रनों का लक्ष्य रखा था, लेकिन मेज़बान टीम महज़ 201 रनों पर ऑल आउट हो गई.

भारत ने 4-1 से यह सिरीज़ अपने नाम की है और सिरीज़ का आख़िरी और छठा मैच 16 फरवरी को खेला जाएगा.

पढ़ें: दर्शक दे रहा था गालियां, इमरान ने बुलाई सिक्योरिटी

इस जीत के नायक कई

इमेज कॉपीरइट Twitter/@ICC

भारत की तरफ़ से मैच के कई नायक रहे. रोहित शर्मा ने ख़राब फॉर्म से वापसी करते हुए शतक जड़ा, जिसकी बदौलत भारतीय टीम सम्मानजनक स्कोर खड़ा कर पाई. 115 रन बनाने वाले रोहित को ही 'मैन ऑफ़ द मैच' घोषित किया गया.

गेंदबाज़ों में एक बार फिर स्पिन जोड़ी का जादू चला. कुलदीप यादव ने चार और युजवेंद्र चहल ने दो विकेट लिए. हरफ़नमौला हार्दिक पंड्या ने कसी हुई गेंदबाज़ी करते हुए दो अहम विकेट लिए.

दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ों की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और महज़ 65 रनों पर उनके तीन विकेट गिर गए थे. लेकिन सलामी बल्लेबाज़ हाशिम अमला एक छोर पर टिके रहे और फिर उन्होंने डेविड मिलर के साथ अच्छी साझेदारी की.

इमेज कॉपीरइट Twitter/@ICC

ऐसा लग रहा था कि मेज़बान टीम मैच में वापसी कर रही है, लेकिन तभी डेविड मिलर को युजवेंद्र चहल ने फिरकी में फंसाकर बोल्ड कर दिया.

फिर पिछले मैच में 'मैन ऑफ द मैच' रहे विकेटकीपर बल्लेबाज़ एच क्लासेन आए और उन्होंने भी कुछ अच्छे हाथ दिखाए. एक बार फिर लगा कि ये दोनों बल्लेबाज़ मैच को भारतीय जबड़े से छीन सकते हैं.

लेकिन फिर अमला को पंड्या ने रनआउट कर दिया और इसके बाद मैच अफ़्रीकी टीम के हाथों से फिसलता चला गया.

शतक के साथ फॉर्म में लौटे रोहित

इमेज कॉपीरइट Twitter/@ICC

भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए बढ़िया शुरुआत की. रोहित शर्मा और शिखर धवन ने सधी हुई शुरुआत दी, लेकिन फिर धवन 34 रनों के निजी स्कोर पर आउट हो गए.

ज़बरदस्त फॉर्म में चल रहे कप्तान विराट कोहली ने टिककर खेलना शुरू किया, लेकिन 54 गेंदों में 36 रन बनाकर वह रनआउट हो गए. अंजिक्य रहाणे भी एक रनआउट में महज़ 8 रन के स्कोर पर अपना विकेट गंवा बैठे.

पढ़ें: शुभमन गिल: पहलवान के खानदान का पहला क्रिकेटर

हालांकि रोहित शर्मा दूसरे छोर पर टिके रहे और फिर श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर उन्होंने टीम की पारी को संभाला और अपना शतक पूरा किया.

एक समय लग रहा था कि भारतीय टीम आसानी से 300 रनों के स्कोर तक पहुंच जाएगी, लेकिन रोहित के आउट होने के बाद दूसरे छोर पर विकेट लगातार गिरते रहे.

तेज़ी से रन जुटाने के लिए हार्दिक पंड्या को महेंद्र सिंह धोनी से पहले भेजा गया, लेकिन वह पहली ही गेंद पर विकेटों के पीछे लपक लिए गए. इसके तुरंत बाद श्रेयस अय्यर भी स्क्वायर कट खेलने के चक्कर में विकेट गंवा बैठे.

पढ़ें: 200 खिलाड़ियों को मैदान से बाहर करने वाली झूलन

अब टी-20 सिरीज़ की बारी

इमेज कॉपीरइट Twitter/@ICC

तेज़ी से रन बनाने के दबाव में धोनी ने भी हवा में गेंद उछाल दी और आउट हो गए.

तेज़ गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार ने बल्ले से कुछ अच्छे हाथ दिखाए और 20 गेंदों पर 19 रन बनाकर भारत के स्कोर को 274 रनों तक पहुंचाया.

दक्षिण अफ़्रीका की ओर से 21 वर्षीय तेज़ गेंदबाज़ लुंगी एनगिडी ने सर्वाधिक 4 विकेट लिए.

पिच पर स्पिन गेंदबाज़ों को मदद मिलने के आसार को देखते हुए दक्षिण अफ़्रीका ने भी अपने चाइनामैन गेंदबाज़ तबरेज़ शम्सी को खिलाया था. उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला, लेकिन 10 ओवरों में 48 रन देकर वह किफायती साबित हुए.

मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में कप्तान विराट कोहली ने टीम में बदलाव के संकेत दिए.

इससे पहले भारत दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट सिरीज़ हार चुका है. वनडे सिरीज़ के बाद 18 फरवरी से दोनों टीमों के तीन मैचों की टी-20 सिरीज़ शुरू होगी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे