कार्तिक के कारनामे से भारत ने जीती निदहास ट्रॉफ़ी

  • 18 मार्च 2018
दिनेश कार्तिक इमेज कॉपीरइट Getty Images

कोलंबो में भारत और बांग्लादेश के बीच निदहास ट्रॉफ़ी का फ़ाइनल मुक़ाबला रोमांच से भरपूर रहा. आखिरी गेंद में भारत को जीत के लिए 5 रनों की दरकार थी और दिनेश कार्तिक ने छक्का जड़कर भारत को जीत दिला दी.

टी-20 के इस फ़ाइनल मुक़ाबले में भारत को जीत के लिए 167 रनों का लक्ष्य मिला था.

कुल जमा आठ गेंदों पर दो चौकों और तीन छक्कों की मदद से 29 रन की अविजित पारी खेलने वाले कार्तिक को 'मैन ऑफ़ द मैच' चुना गया.

18वें ओवर तक भारत की जीत मुश्किल लग रही थी. भारत को जीत के लिए 18 गेंदों पर 35 रनों की दरकार थी.

गेंद मुस्तफ़िज़ुर रहमान के हाथों में थी और उनके सामने बल्लेबाज़ी कर रहे थे विजय शंकर. शंकर ने हर गेंद को मारने की कोशिश की, लेकिन बल्ले का गेंद से मिलन ही नहीं हुआ.

इसके बाद बुरी तरह हताश लग रहे शंकर ने एक लेगबाई लेकर स्ट्राइक मनीष पांडेय को थमा दी. पांडेय ने नुक़सान की भरपाई करने के इरादे से हवा में शॉट मारा, लेकिन टाइमिंग ठीक से नहीं हो सकी और सब्बीर रहमान ने लॉन्ग ऑन पर खूबसूरत कैच पकड़ लिया.

अब तो लक्ष्य और भी मुश्किल नज़र आने लगा था. टीम इंडिया को 12 गेंदों पर 34 रन बनाने थे. भारतीय ड्रेसिंग रूम में निराशा नज़र आने लगी थी, लेकिन विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक के इरादे तो कुछ और ही थे.

कार्तिक का सामना रुबैल हुसैन से था. हुसैन की इस नीचे आते फुल टॉस पर कार्तिक ने आगे बढ़कर ज़ोरदार प्रहार किया और लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का उड़ा दिया.

इमेज कॉपीरइट AFP

दूसरी गेंद पर चौका और तीसरी गेंद पर छक्का जड़ते हुए कार्तिक ने भारत को जीत के बेहद करीब पहुँचा दिया. इस ओवर में कुल मिलाकर 22 रन बने और अब भारत को आख़िरी ओवर में 12 रनों की दरकार थी.

सौम्य सरकार के सामने शंकर थे, लेकिन पहली गेंद वाइड रही. दूसरी गेंद पर भी शंकर का बल्ला गेंद को नहीं छू सका. एक बार फिर लगने लगा कि अब भारत का जीतना मुश्किल है, लेकिन अगली गेंद पर शंकर एक्स्ट्रा कवर की तरफ शॉट खेलकर एक रन बनाने में कामयाब रहे.

लेकिन ये क्या, कार्तिक ने अगली ही गेंद पर एक रन दौड़कर स्ट्राइक एक बार फिर शंकर को दे दी. सौम्य सरकार की इस गेंद को शंकर ने बेहद चतुराई से खेला और थर्ड मैन की दिशा में गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेज दिया.

लेकिन अगली गेंद पर लॉन्ग ऑन पर लंबा शॉट खेलने के फेर में शंकर मेहदी हसन मिर्ज़ा को कैच थमा बैठे.

अब आखिरी गेंद पर भारत को जीत के लिए 5 रन चाहिए थे और छक्के के अलावा कोई राह नहीं बची थी. दिनेश कार्तिक के दमदार प्रहार से गेंद हवा में सीमारेखा के पार पहुंची और भारत टूर्नामेंट का चैंपियन बन गया.

भारत की तरफ़ से कप्तान रोहित शर्मा (56), के एल राहुल (24) और मनीष पांडेय ने 28 रनों की पारी खेली.

बांग्लादेश की पारी

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शब्बीर रहमान

इससे पहले, बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए बांग्लादेश ने भारत के सामने जीत के लिए 167 रन का लक्ष्य रखा है. भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया.

बांग्लादेश के बल्लेबाज़ों ने बल्लेबाज़ी में कोई कसर नहीं छोड़ी.

शब्बीर रहमान ने एक तरफ़ से विकेट थामे रखा और 50 गेंद में 77 रन की शानदार पारी खेली.

हालांकि दूसरी तरफ़ से लगातार विकेट गिरते रहे.

बांग्लादेश की तरफ़ से शब्बीर रहमान ने 77, तमीम इकबाल ने 15, लिटन दास ने 11, सौम्य सरकार ने 1, मुश्फ़िकुर रहीम ने 9, महमदुल्ला ने 21, कप्तान शकिब अल हसन ने 7 और मेहदी हसन ने नाबाद 19 रन बनाए.

निर्धारित 20 ओवर में बांग्लादेश ने आठ विकेट के नुकसान पर 166 रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption युजवेंद्र चहल

भारत की तरफ़ से युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए.

उन्होंने तमीम इकबाल, मुशफ़िकुर रहीम और सौम्य सरकार को पैविलियन का रास्ता दिखाया.

वहीं तेज़ गिंदबाज़ उनादकट ने बांग्लादेश के आज के सबसे सफल बल्लेबाज़ शब्बीर रहमान को बोल्ड आउट किया.

उनादकट ने रूबेल हुसैन को भी शून्य पर बोल्ड किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार