ऑस्ट्रेलिया और आईपीएल में बैन हुए स्मिथ-वॉर्नर

  • 28 मार्च 2018
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट इमेज कॉपीरइट Getty Images

बॉल टैम्परिंग मामले में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की मुश्किलें कम नहीं हो पा रही हैं.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इन दोनों खिलाड़ियों के खेलने पर एक साल का बैन लगा दिया है. जबकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस साल इन दोनों खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने पर पाबंदी लगा दी है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और पूर्व उप-कप्तान डेविड वॉर्नर के अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट खेलने पर एक साल की पाबंदी लगा दी गई है.

वहीं, गेंद से छेड़छाड़ करने वाले सलामी युवा बल्लेबाज़ कैमरून बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का बैन लगाया गया है.

दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में बैनक्रॉफ्ट ने बॉल को खुरचने की कोशिश की थी.

बाद में स्मिथ ने माना कि लीडरशिप ग्रुप के साथ उन्होंने ये योजना बनाई थी और इसमें कोच स्टाफ़ शामिल नहीं था.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपनी जांच में पाया कि ये साज़िश रचने में वॉर्नर की अहम भूमिका रही थी.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के जारी आधिकारिक बयान में तीनों खिलाड़ियों के इस धोखेबाज़ी में शामिल होने की बात कही गई है. उनकी हरकत को खेल भावना के खिलाफ़ पाया गया.

बोर्ड का यह भी कहना है कि यह क्रिकेट के हितों के लिए हानिकारक हो सकता है और इससे खेल भी बदनाम हुआ है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने तीनों खिलाड़ियों पर घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने पर रोक लगा दी है. तीनों सिर्फ क्लब क्रिकेट खेल सकेंगे और उन्हें 100 घंटे की सेवा कम्युनिटी क्रिकेट के लिए करनी होगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के चेयरमैन डेविड पीवर ने कहा है कि जो भी हुआ है "वो ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट और खेलों के खिलाफ़ है और उन्हें दंड भी उसी हिसाब से मिलना चाहिए."

उन्होंने आगे कहा, "ये पेशेवर खिलाड़ियों के लिए जरूरी दंड है और बोर्ड उन्हें कड़ाई से लागू करेगा."

वहीं, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेम्स सदरलैंड ने कहा कि "खिलाड़ियों को दिए गए दंड से मैं संतुष्ट हूं. मैं मानता हूं कि दिए गए दंड में खेल की भावना और खिलाड़ी के भविष्य के बीच एक संतुलन दिखता है."

जेम्स सदरलैंड ने मंगलवार को कहा था कि बॉल टैम्परिंग में ये तीन लोग ही थे. टीम के बाकी सदस्यों को इस बारे में कुछ भी पता नहीं था.

उन्होंने यह भी कहा कि टीम के प्रमुख कोच डैरेन लीमैन इस विवाद में शामिल नहीं थे और वो अपने पद पर बने रहेंगे.

मंगलवार को अपने बयान में जेम्स सदरलैंड ने यह भी ऐलान किया था कि बॉल टैम्परिंग में शामिल तीनों खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा था, "ये खेल भावना के अनुरूप नहीं है. यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए अच्छा दिन नहीं है."

सदरलैंड ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की तरफ से क्रिकेट प्रशंसकों से माफी भी मांगी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जेम्स सदरलैंड

टिम पेन बने कप्तान

दक्षिण अफ्रीका में चल रही सिरीज़ के बचे खेलों में विकेटकीपर टिम पेन को ऑस्ट्रेलिया का कप्तान बनाया गया है.

खिलाड़ियों की सूची से बाहर हुए तीन खिलाड़ियों की जगह मैथ्यू रेन्शॉ, ग्लेन मैक्सवेल और जो बर्न्स को दक्षिण अफ्रीका भेजा गया है.

सिरीज़ का चौथा टेस्ट जोहानेसबर्ग में शुक्रवार से खेला जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्या है पूरा मामला?

केपटाउन में हुए तीसरे टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट गेंद चमकाने से पहले अपनी जेब से कुछ निकाला और उससे बॉल को ख़ुरचने की कोशिश की.

यह सबकुछ टेलीविज़न फुटेज में कैद हुआ. इसके बाद बैनकॉफ्ट ने यह स्वीकार किया था कि उन्होंने गेंद से छेड़छाड़ की थी.

टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी माफी मांगते हुए यह स्वीकार किया था कि इस साज़िश के बारे में उन्हें पहले से मालूम था.

क्या बॉल टैम्परिंग कर मैच जीता जा सकता है?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे