राष्ट्रमंडल 2018: भारत का सातवां गोल्ड मेडल महिला टेबल टेनिस टीम इवेंट में

  • 8 अप्रैल 2018
इमेज कॉपीरइट AFP
  • महिला टेबल टेनिस टीम इवेंट में भारतीय टीम को मिला गोल्ड,सिंगापुर को हराया
  • 94 किलोग्राम पुरुष वेटलिफ्टिंग में भारत के विकास ठाकुर को कांस्य
  • पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में रवि कुमार को कांस्य पदक
  • महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में मनु भाकर को स्वर्ण और हिना सिद्धू को रजत
  • महिलाओं की 69 किलो वेटलिफ्टिंग में पूनम यादव को स्वर्ण
  • भारतीय बॉक्सर एमसी मैरीकॉम महिलाओं की 45-48 किलो बॉक्सिंग स्पर्धा के सेमीफाइनल में

राष्ट्रमंडल 2018 में रविवार का दिन भारत के लिए अच्छा रहा. भारत को टेबल टेनिस, निशानेबाज़ी और वेट लिफ्टिंग के खेल में पदक मिले.

महिला टेबल टेनिस के टीम इवेंट में भारत ने गोल्ड मेडल हासिल किया. भारत की महिला टीम ने फ़ाइनल मुक़ाबले में सिंगापुर को 3-1 से हराया. भारत की ओर से मानिका बत्रा ने पहला मैच जीत कर टीम को बढ़त दिलाई. मधुरिका पाटकर दूसरे सिंगल में अपना मैच हार गईं.

लेकिन मौमा दास और मधुरिका पाटकर की जोड़ी ने डबल्स का मुक़ाबला जीत लिया, इसके बाद रिवर्स सिंगल में एक बार फिर मानिका बत्रा ने भारत की जीत दिला दी.

पुरुषों की 94 किलोग्राम भार वर्ग की वेटलिफ्टिंग स्पर्धा में भारत के विकास ठाकुर ने कांस्य पदक जीता.

पपुआ न्यू गिनी के स्टीवन कारी ने स्नैच और क्लीन एंड जर्क मिलाकर 370 किलो वज़न उठाकर स्वर्ण पदक जीता. वह स्नैच स्पर्धा में तीसरे नंबर पर थे, लेकिन क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 216 किलो वज़न उठाकर सबको हैरान कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption विकास ठाकुर

इससे अब तक काफी आगे चल रहे कनाडा के बोडी सैंटवी दूसरे स्थान पर खिसक गए और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा.

भारत के विकास ठाकुर ने स्नैच स्पर्धा में उन्होंने तीन प्रयासों में 152, 156 और 159 किलो का वज़न उठाया. 159 किलो का वज़न विकास का सर्वश्रेष्ठ निजी प्रदर्शन है. क्लीन एंड जर्क के पहले प्रयास में उन्होंने 192 किलो वज़न उठाया, लेकिन 200 किलो वज़न उठाने के उनके दोनों प्रयास नाकाम रहे.

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर ज़िले के पटनौन में जन्मे विकास 24 साल के हैं.

महिला हॉकी टीम की जीत

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय महिला हॉकी टीम ने पूल-ए के मैच में ओलंपिक चैंपियन इंग्लैंड को 2-1 से हराकर सबको हैरान कर दिया.

भारतीय टीम की कई खिलाड़ी कॉमनवेल्थ खेलों में पहली बार हिस्सा ले रही हैं. भारतीय महिला हॉकी टीम अपने पूल में इंग्लैंड के बाद दूसरे नंबर पर है और सेमीफाइल में पहुंचने की उसकी राह आसान हो गई है.

मैच में पहला गोल इंग्लैंड ने ही किया. इंग्लैंड की कप्तान एलेग्ज़ैंड्रा डैंसन ने 35वें सेकेंड में ही अपनी टीम को बढ़त दिला दी. लेकिन भारत की ओर से गुरजीत कौर ने 42वें मिनट में गोल करके स्कोर बराबर कर दिया. इसके बाद नवनीत कौर ने 48वें मिनट में एक गोल दागकर भारत को बढ़त दिला दी जो आख़िर तक बनी रही.

मनु भाकर का सोने पर निशाना

निशानेबाज़ी की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में मनु भाकर ने स्वर्ण पदक पर निशाना साधा, जबकि हिना सिद्धू दूसरे स्थान पर रहीं और रजत पदक की हकदार बनीं.

इमेज कॉपीरइट Ram Kishan Bhaker

मनु ने 240.9 अंक जुटाए और स्वर्ण पदक हासिल किया. इसके साथ ही मनु ने राष्ट्रमंडल खेलों के नया रिकॉर्ड भी बनाया

हिना सिद्धू 234 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं और रजत पदक अपने नाम किया.

ऑस्ट्रेलिया की इलेना गालियाबोविच ने 214.9 अंकों के साथ कांस्य पदक पर कब्जा किया.

पदक तालिका में अब भारत के कुल सात स्वर्ण पदक हो गए हैं. सात स्वर्ण, दो रजत और तीन कांस्य पदक के साथ भारतीय टीम अभी पदक तालिका में चौथे पायदान पर बनी हुई है.

रवि कुमार को कांसा

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रवि कुमार

इसके अलावा 10 मीटर एयर राइफल की पुरुष स्पर्धा में रवि कुमार ने कांस्य पदक जीता है. ऑस्ट्रेलिया के डेन सैम्पसन ने 245 अंकों के साथ स्वर्ण और बांग्लादेश के अब्दुल्ला हेल बाकी ने 244.7 अंकों के साथ रजत पदक जीता. भारत के रवि कुमार 224.1 अंक हासिल किए.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में जन्मे 28 वर्षीय रवि कुमार पिछले कॉमनवेल्थ खेलों में चौथे स्थान पर रहे थे. रवि कुमार भारतीय वायु सेना में कार्यरत हैं. उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है.

मैरीकॉम सेमीफाइनल में

इमेज कॉपीरइट Getty Images

स्टार भारतीय महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम महिलाओं की 45-48 किलो बॉक्सिंग स्पर्धा के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं. उन्होंने स्कॉटलैंड की मुक्केबाज़ मेगन गॉर्डन को तीनों राउंड में हराया.

मैरीकॉम 2012 के लंदन ओलंपिक में महिलाओं की 51 किलो बॉक्सिंग स्पर्धा में कांस्य जीत चुकी हैं.

पूनम ने उठाया सोना

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इससे पहले, वेटलिफ्टिंग में पूनम यादव ने महिला 69 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता.

पूनम यादव ने स्नैच में पहले प्रयास में 95, दूसरे में 98 और तीसरी कोशिश में 100 वजन उठाया. क्लीन एंड जर्क में उनका सर्वश्रेष्ठ 122 किलोग्राम रहा. इस तरह कुल 222 किलोग्राम वजन उठाकर पूनम ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इंग्लैंड की सारा डेविस ने 217 किलोग्राम के साथ दूसरे नंबर पर रहीं. फ़िजी की अपोलिना वाइवाइ ने 216 किलोग्राम उठाकर कांस्य पदक जीता.

22 साल की पूनम यादव बनारस की रहने वाली हैं. 2014 के ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में 63 किलोग्राम में भारवर्ग में पूनम ने कांस्य पदक जीता था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे