राशिद ख़ान: महफ़िल आईपीएल की, लूट ले गया अफ़ग़ान

  • 27 अप्रैल 2018
राशिद ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

सनराइज़र्स हैदराबाद की पारी जब 132 रनों पर सिमटी तो दोनों टीम और दर्शक समझ रहे थे कि किंग्स इलेवन पंजाब आसानी से मैच जीतकर अंत तालिका में 12 नंबर के साथ सबसे ऊपर पहुंच जाएगी.

एक दिन पहले ही चेन्नई सुपर किंग्स ने विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के 205 रनों के भारी-भरकम स्कोर को छोटा सा बना दिया था. ऐसे में 133 रनों तक पहुंचने में मुश्किल क्यों दिखती?

बैटिंग लाइनअप में क्रिस गेल, के एल राहुल, मयंक अग्रवाल, करुण नायर, एरन फ़िंच और मनोज तिवारी जैसे बल्लेबाज़ हों तो फिर 133 रन तक पहुंचना आसान ही दिखता है लेकिन ये दिन अलग था और पिच भी.

और इनसे भी बड़ा अंतर पैदा किया राशिद ख़ान ने. दुनिया के नंबर एक टी20 गेंदबाज़ ने दिखाया कि उनका यहां तक पहुंचना कोई हंसी-खेल नहीं है.

राशिद ने चार ओवर फेंके और 19 रन देकर तीन विकेट चटकाए. इन तीन विकेट में के एल राहुल, करुण नायर और कप्तान आर अश्विन की विकेट शामिल हैं.

गेल ने बनाया था निशाना

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मैच की सूरत बदलने वाले राशिद का ये स्पैल इसलिए भी ख़ास है कि इससे पहले जिस मैच में ये दोनों टीमें भिड़ी थीं, क्रिसे गेल ने राशिद को ख़ास तौर से निशाना बनाया था. लेकिन इस बार दांव उलट गया. राशिद के कमाल की वजह से 132 रनों का पीछा करने उतरी पंजाब की टीम महज़ 119 रनों बर सिमट गई.

पिछला मैच पंजाब ने जीता था और गेल के शतक ने उस जीत की नींव रखी थी. राशिद ने उस मैच में चार ओवर में 55 रन दिए थे और सिर्फ़ एक विकेट उनके खाते में आई थी.

आईपीएल 2018: सचिन बचा पाएँगे मुंबई इंडियंस को

सबसे कम स्कोर बनाकर भी जीती सनराइज़र्स हैदराबाद

गुरुवार के मैच में गेल और राहुल ने एक बार फिर शानदार शुरुआत की और 50 रन जोड़ लिए थे. लेकिन फिर राशिद की गेंदों ने कमाल दिखाना शुरू किया.

उन्होंने राहुल को एक शानदार गेंद पर बोल्ड किया. इसके बाद नायर को चकराया और पगबाधा लपेटा. आर अश्विन की भी उनके सामने एक न चली.

ये पहला मैच नहीं, जिसे राशिद ने अपने दम पर पलट दिया. अब तक खेले गए सात मैचों में वो नौ विकेट चटका चुके हैं. दो मैचों में ख़ासा महंगा साबित होने के बाद इकनॉमी 7.17 है. पिछले आईपीएल में उन्होंने 14 मैच में 17 विकेट ली थीं.

कहां हुआ जन्म?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

राशिद ख़ान का जन्म साल 1998 में पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान के नंगरहार में हुआ था. वो जलालाबाद से ताल्लुक़ रखते हैं और उनके दस भाई-बहन हैं.

जब वो काफ़ी छोटे थे, तो उनका परिवार अफ़ग़ानिस्तान में जारी युद्ध से बच निकला और उनका परिवार कुछ साल पाकिस्तान में रहा.

बाद में वो लोग अफ़ग़ानिस्तान लौटे और सामान्य ज़िंदगी बसर करनी शुरू की. राशिद अपने भाइयों के साथ मिलकर क्रिकेट खेला करते थे.

धोनी ने दिखाया कि आज भी वही हैं बॉस!

बच्चे से प्रोफ़ेशनल क्रिकेटर बनने के दौरान के सफ़र में पाकिस्तानी खिलाड़ी शाहिद अफ़रीदी को उन्होंने अपना प्रेरणास्रोत बनाया. यहां तक कि उनका बॉलिंग एक्शन भी अफ़रीदी से मेल खाता है.

अपने 17वें जन्मदिन के तुरंत बाद राशिद को अफ़ग़ानिस्तान की इंटरनेशनल टीम में खेलने का मौक़ा मिला था. साल 2015 में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ उनका सफ़र शुरू हुआ.

राशिद ख़ान छाए हुए हैं

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दो साल बाद इसी टीम के ख़िलाफ़ वो मैदान में थे जब इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में राशिद ख़ान का नाम छा गया. वो सबसे महंगे एसोसिएट खिलाड़ी बने.

उन्हें हैदराबाद सनराइज़र्स ने चार करोड़ रुपए में ख़रीदा. इस बीच राशिद ने ख़ुद को अफ़ग़ान टीम के प्रमुख खिलाड़ी के रूप में स्थापित कर लिया.

ख़ास बात ये है कि वो बॉल को बहुत ज़्यादा टर्न नहीं कराते, लेकिन हवा में गेंद की रफ़्तार तेज़ रखते हुए बल्लेबाज़ को चकमा देने की कोशिश करते हैं.

ये स्टाइल भी अफ़रीदी का रहा है. साथ ही वो विकेट टू विकेट बॉल करते हैं और उनका सबसे बड़ा हथियार गुगली है.

इसके अलावा वो अच्छे फ़ील्डर हैं और आम तौर पर कवर में रहते हैं, जो वनडे क्रिकेट में सबसे व्यस्त इलाका माना जाता है. इसके अलावा निचले क्रम में बल्लेबाज़ी करने के बावजूद वो आक्रामक रुख़ दिखा सकते हैं.

ये साल लकी है

इमेज कॉपीरइट Getty Images

साल 2018 उनके लिए काफ़ी लकी साबित हो रहा है. आईसीसी रैंकिंग के पहले नंबर पर पहुंचने से पहले वो आईपीएल में 9 करोड़ रुपए की भारी-भरकम रकम में ख़रीदे गए.

वनडे क्रिकेट में वो अब तक 37 मैचों में 86 विकेट ले चुके हैं और टी20 में 29 मैचों में 47 विकेट चटका चुके हैं.

बिग बैश लीग में वो एडीलेड स्ट्राइकर्स की तरफ़ से खेलते हैं और इस बार उनकी गेंदबाज़ी की ख़ासी चर्चा हुई.

ऑस्ट्रेलिया के लंबे-चौड़े मैदानों में उनकी गेंद को बाउंड्री पार पहुंचाने में बल्लेबाज़ों को काफ़ी मेहनत करनी पड़ी.

पिछले साल नवंबर में उन्हें पाकिस्तान सुपर लीग के प्लेयर ड्राफ़्ट में क्वेटा ग्लैडियटर्स की तरफ़ से खेलने के लिए चुना गया.

आईपीएल में कामयाबी के बाद वो इंग्लैंड की नेटवेस्ट टी20 ब्लास्ट टूर्नामेंट में अब ससेक्स काउंटी क्रिकेट क्लब की तरफ़ से खेलेंगे.

पाकिस्तान के इस खिलाड़ी ने भारत से क्यों मांगी मदद?

भारत में ओलंपिक आयोजन के दावों में कितना दम?

20 साल पहले सचिन की वो करिश्माई पारी

'हिना से मेरी मोहब्बत किसी फ़िल्म से कम नहीं'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे