आईपीएल 2018: सस्ते, महंगे और बेशक़ीमती

  • 28 मई 2018
राशिद ख़ान इमेज कॉपीरइट AFP

आईपीएल 2018 में कई ऐसे क्रिकेटर रहे जिन पर बड़ी बोली लगाई गई लेकिन वो उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके.

वहीं कुछ ने आशानुरूप उम्दा खेल दिखाया तो वहीं कुछ ऐसे भी थे जिन पर जो बोली लगाई गई थी उससे कहीं अच्छा प्रदर्शन किया.

चलिए ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों की चर्चा करते हैं.

सबसे महंगे थे, महंगे साबित भी हुए

इमेज कॉपीरइट Facebook/BenStokes38Official

राजस्थान रॉयल्स ने इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स के लिए 12.5 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी.

और वह इस टूर्नामेंट के लिए ख़रीदे जाने वाले सबसे महंगे खिलाड़ी थे लेकिन वो टूर्नामेंट में केवल 196 रन बना सके.

इस तरह उनकी टीम के लिए उनका एक एक रन 6.37 लाख रुपये का पड़ा.

अगर विकेटों के लिहाज से उनकी कीमत आंकी जाए तो उनके लिए प्रत्येक विकेट के लिए टीम को 1.56 लाख रुपये खर्च करने पड़े.

इतना ही नहीं, उन्हें टूर्नामेंट बीच में ही छोड़कर अपने देश की टीम की तरफ से खेलने के लिए वापस जाना पड़ा.

ये भी कम महंगे नहीं पड़े

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption युवराज सिंह की फ़ाइल तस्वीर

स्टोक्स के बाद सबसे महंगे ख़रीदे गए थे उन्हीं की टीम के साथी जयदेव उनादकट.

राजस्थान रॉयल्स ने 11.5 करोड़ रुपये की बोली लगाकर उन्हें ख़रीदा था. लेकिन उनादकट टीम के लिए बेहद महंगे साबित हुए. टूर्नामेंट में उन्होंने 11 विकेट लिए यानी उनके प्रत्येक विकेट की टीम को कीमत पड़ी करीब 1.04 करोड़ रुपये.

दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने ऑस्ट्रेलिया के धुंआधार बल्लेबाज़ ग्लेन मैक्सवेल को 9 करोड़ रुपये में खरीदा था. मैक्सवेल दिल्ली डेयरडेविल्स को बहुत महंगे पड़े क्योंकि उन्होंने खेले गए 12 मैचों में महज 159 रन बनाए और 5 विकेट लिए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ईशान किशन

मुंबई इंडियंस ने ईशान किशन को 6.20 करोड़ में ख़रीदा था और उन्होंने टूर्नामेंट में 275 रन बनाए. यानी उनके बनाए प्रत्येक रन के लिए टीम को करीब सवा दो लाख रुपये की कीमत चुकानी पड़ी.

पंजाब की टीम के लिए चुने गए युवराज सिंह ने भी पूरे टूर्नामेंट में केवल 65 रन बनाए और उनके लिए दो करोड़ रुपये खर्च किए गए थे. लिहाजा उनके प्रत्येक रन की कीमत 3 लाख रुपये से ऊपर पड़ी.

उनादकट में ऐसा क्या है जो 11.5 करोड़ में बिके?

बेशकीमती बन कर उभरे

इमेज कॉपीरइट Rashid Khan
Image caption भारतीय कप्तान विराट कोहली के साथ ये तस्वीर राशिद ख़ान ने ट्विटर पर साझा की है

वहीं, आईपीएल के सबसे बेशकीमती क्रिकेटर बन कर उभरे अफ़ग़ानिस्तान के राशिद ख़ान जिन्होंने टूर्नामेंट में खेले गए 17 मैच में महज 59 रन देकर 21 विकेट लेते हुए 9 करोड़ की उन पर लगाई गई बोली को सही साबित किया.

पंजाब की टीम में केवल तीन करोड़ रुपये में ख़रीदे गए थे अंकित राजपूत. उन्होंने खेले गए 8 मैचों में केवल 11 रन देकर 11 विकेट लिए.

वो इस टूर्नामेंट के एक मात्र ऐसे प्लेयर हैं जिसने एक मैच में पांच विकेट लेने का कारनामा किया. यानी उनके प्रत्येक विकेट के लिए खर्चे गए महज 27 लाख रुपये.

टूर्नामेंट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले ऑस्ट्रेलिया के दाहिने हाथ के तेज़ गेंदबाज़ एंड्र्यू टाई ने अपने ऊपर लगाई गई बोली को सही साबित किया.

उन पर पंजाब की टीम ने 7.20 करोड़ की बोली लगाई थी और उन्होंने 14 मैचों में 5.33 की औसत से केवल 32 रन देकर 24 विकेट लिए.

बेहद सस्ते में मिले चैंपियन

इमेज कॉपीरइट PTI

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए कप्तान केन विलियमसन की कीमत लगाई गई थी महज़ तीन करोड़ रुपये.

और उन्होंने टूर्नामेंट में सबसे अधिक 735 रन बना डाले, लिहाजा उनके प्रत्येक रन की कीमत पड़ी महज 40 हज़ार रुपये.

शेन वॉटसन के लिए भी सिर्फ चार करोड़ रुपये की बोली लगाई गई थी जबकि उन्होंने टूर्नामेंट में 555 रन बनाए और सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में पांचवे स्थान पर रहे. वाटसन ने छह विकेट भी लिए.

वहीं क्रिस गेल को महज 2 करोड़ रुपये में पंजाब ने अपनी टीम में लिया और उन्होंने बनाए 368 रन लिहाजा उनके प्रत्येक रन की कीमत पड़ी करीब 60 हज़ार रुपये.

केवल इन तीन खिलाड़ियों के लिए खर्च की गई रकम (कुल 9 करोड़ रुपये) को जोड़ कर उनके प्रदर्शन (कुल 1658 रन) से तुलना करें तो इनके बनाए प्रत्येक रन महज 54 हज़ार रुपये यानी बेहद सस्ते पड़े.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे