ईरान में हिजाब पर सौम्या के समर्थन में मोहम्मद कैफ़ की दो टूक

  • 13 जून 2018
सौम्या स्वामीनाथन इमेज कॉपीरइट SOUMYA SWAMINATHAN

भारत की शतरंज चैंपियन सौम्या स्वामीनाथन ने ईरान में हिजाब की अनिवार्यता के चलते प्रतियोगिता छोड़ दी और इस तरह से वो एशियन टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं.

ईरान में महिलाओं के लिए सिर पर हिजाब रखना अनिवार्य है. 29 साल की ग्रैंडमास्टर सौम्या ने कहा कि यह नियम मानवाधिकारों का उल्लंघन है.

इस मामले में सौम्या ने फ़ेसबुक पर एक पोस्ट लिखी है जो देखते ही देखते वायरल हो गई. उन्होंने लिखा है, ''वर्तमान परिस्थिति में अपने अधिकारों की रक्षा के लिए एक ही रास्ता है कि मैं ईरान नहीं जाऊं.''

एशियाई शतरंज चैंपियनशिप अगले महीने ईरान में शुरू होने जा रही है.

स्वामीनाथन भारत में शतरंज की पांचवी रैंक की खिलाड़ी हैं. उन्होंने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यह टूर्नामेंट पहले बांग्लादेश में होना था, लेकिन नई तारीख़ आने के बाद जगह भी बदल गई.

इमेज कॉपीरइट @MohammadKaif

सौम्या से पूछा गया कि क्या ऑल इंडिया शतरंज फेडरेशन को इस मामले में मैच ईरान से कहीं और शिफ़्ट करने के लिए विरोध करना चाहिए तो उन्होंने कहा कि वो अपनी सोच की तरह किसी और के सोचने की उम्मीद नहीं कर सकतीं.

सौम्या ने कहा कि इस पर हर कोई की अलग-अलग राय हो सकती है.

हालांकि फ़ेसबुक पोस्ट में सौम्या ने लिखा है कि उन्हें खिलाड़ियों के अधिकारों को देख निराशा होती है. सौम्या का कहना है कि खिलाड़ियों को अक्सर समझौते करने पड़ते हैं, लेकिन कोई धार्मिक पहनावे को नहीं थोप सकता है.

सौम्या के इस फ़ैसले की सोशल मीडिया पर लोग जमकर सराहना कर रहे हैं.

भारत के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने ट्विटर पर सौम्या की पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा है, ''ईरान में नहीं खेलने के फ़ैसले के लिए सौम्या आपको सलाम. किसी भी खिलाड़ी पर धार्मिक पहनावे को थोपने की कोई गुंजाइश नहीं होनी चाहिए. उस देश को अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी का मौक़ा नहीं देना चाहिए जो बुनियादी मानवाधिकारों के बारे में नहीं सोचता हो.''

मोहम्मद कैफ़ के इस ट्वीट को हज़ारों लोगों ने लाइक और शेयर किया है.

यह कोई पहली बार नहीं है जब किसी भारतीय महिला खिलाड़ी ने हिजाब के कारण मैच खेलने से इनकार कर दिया हो.

इससे पहले, शूटर हिना सिद्धू ने 2016 में ईरान में एशियाई एयरगन मुक़ाबले से ख़ुद को अलग कर लिया था. भारत के अलावा कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ऐसा कर चुके हैं.

भारत पर क्यों चढ़ा है शतरंज का बुखार?

लाजवाब है ज़िन्दगी, शतरंज की बिसात पर

शतरंज का इतिहास कितना पुराना?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे